Moneycontrol » समाचार » निवेश

क्रेडिट कार्डः कैसे करें स्मार्ट खरीदारी

प्रकाशित Wed, 14, 2014 पर 16:52  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग और पर्सनल फाइनेंस से जुड़ी समस्याओं को सुलझाने के लिए हाजिर है योर मनी। योर मनी में आज हम जानेंगे क्रेडिट कार्ड से जुड़ी कुछ अहम बातों पर जो आपके भी बहुत काम आ सकती हैं। क्रेडिट कार्ड से जुड़ी अहम जानकारी देने के लिए हमारे साथ हैं ऑनलाइन फाइनेंशियल प्लानिंग डॉट इन के डायरेक्टर कार्तिक झवेरी।


क्रेडिट कार्ड के तहत सबसे पहले इंट्रेस्ट फ्री पीरीयड को समझ लेते हैं। क्रेडिट कार्ड के बिलिंग पीरियड के तहत 44-55 दिन की ब्याज मुक्त मियाद की सुविधा मिलती है इसे इंट्रेरेस्ट फ्री पीरीयड कहते हैं। इसका फायदा उठाने के लिए बिलिंग तारीख की शुरुआत में ही बड़ी खरीदारी करें जिससे आप आने वाले इंट्ररेस्ट फ्री पीरियड का फायदा उठा सकते हैं।


क्रेडिट कार्ड का देर से पेमेंट करने पर 36-48 फीसदी की सालाना पेनाल्टी लग सकती है। रीपेमेंट शेड्यूल पर ध्यान से गौर करना चाहिए। बकाया रकम का भुगतान तय तारीख पर करना चाहिए। आपको इंट्रेस्ट फ्री पीरीयड के लालच में नहीं फंसना चाहिए और अपने पेमेंट तय समय पर कर देना चाहिए। इंट्रेस्ट फ्री के चक्कर में फिजूलखर्ची से बचना चाहिए।


क्रेडिट कार्ड वैसे तो बहुत काम की चीज है क्योंकि इसमें आपके अकाउंट से तुरंत पैसा नहीं कटता है। बाद में आपको इसका बिल देना होता है। आपको बहुत सारे बिल अलग अलग भरने की जरूरत नहीं है और इसके जरिए आपके अकाउंट से पैसा एकमुश्त कट जाता है जो आप तब दे सकते हैं जब आपकी सैलरी आ जाती है। हालांकि कई लोग क्रेडिट कार्ड की तुलना में डेबिट कार्ड लेना पसंद करते हैं लेकिन ये भी ध्यान रखना चाहिए कि इससे आपके अकाउंट से तुरंत पैसा कट जाता है।


क्रेडिट कार्ड के साथ सिबिल की रेटिंग का काफी संबंध है। अगर आप समय पर क्रेडिट कार्ड का भुगतान समय पर नहीं देते हैं तो आपका क्रेडिट स्कोर कम होता जाता है और आप डिफॉल्टर बन सकते हैं। इससे बचने के लिए जरूरी है कि समय पर क्रेडिट कार्ड के पेमेंट करें। क्रेडिट कार्ड का छोटे से छोटा पेमेंट भी ना करने पर आपका सिबिल स्कोर खराब हो सकता है जिससे आपके लिए भविष्य में लोन लेना मुश्किल हो सकता है।


क्रेडिट कार्ड के जरिए फिजूल की शापिंग करने से बचना चाहिए और इसे जरूरत पड़ने पर ही प्रयोग किया जाना चाहिए। कई बार ये कार्ड आपकी इमरजेंसी में भी मदद करता है। जैसे अचानक अस्पताल में दाखिल होने पर बड़ी राशि जमा करानी होती है तो इस भुगतान को आप क्रेडिट कार्ड के जरिए दे सकते हैं और बाद में कैशलेस की प्रक्रिया होने तक निश्चिंत रह सकते हैं।


जब आप किसी भी क्रेडिट कार्ड पर खरीदारी करते हैं तो इससे आपको सुविधा तो मिलती है लेकिन ये ध्यान रखना चाहिए कि आगे जाकर आपको ये पैसा देना ही है। क्रेडिट कार्ड बैंक द्वारा प्रदान की गई एक सुविधा है जिसका बेजा इस्तेमाल आपको कुछ समय के लिए तो सुकून दे सकता है लेकिन आगे जाकर ये आपके लिए एक बड़ी समस्या बन सकता है।


वीडियो देखें