Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनी: रखे आपके पैसों का खयाल

प्रकाशित Sat, 19, 2014 पर 12:42  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कहां मिल रहा है सबसे अच्छा रिटर्न, कैसे होंगे आपके पैसे दोगुने, कहां पैसे लगाना है आपके लिए सबसे ज्यादा सुरक्षित, योर मनी यानि आपका पसर्नल फाइनेंस गुरू, आपको वो सब जरूरी जानकारी देता है, जो आपके पैसों से जुड़ी हो, इसी मुद्दों पर लेंगे वाइजइन्वेस्ट एडवाइजर्स के सीईओ हेमंत रुस्तगी की राय


सवाल : मेरी 50 उम्र साल है और मेरे पास एसबीआई मैग्नम टैक्स गेन, एचडीएफसी लॉंन्ग टर्म गेन, रिलायंस टैक्स सेवर ईएलएसएस फंड, एचडीएफसी लॉन्ग टर्म एडवांस फंड, एचडीएफसी कैपिटल बिल्डर, बिड़ला एमएनसी प्लान, यूटीआई इंफ्रा ग्रोथ, यूटीआई मास्टर प्लस, यूटीआई टॉप 100, यूटीआई इक्विटी फंड है। मेरा पोर्टफोलियो कैसा है, क्या इसमें बदलाव की जरूरत है? क्या 3 साल के लॉक इन के बाद भी कैपिटल गेन टैक्स लगेगा? बजट में म्यूचुअल फंड में टैक्स को लेकर क्या अहम बदलाव हुए?      


हेमंत रुस्तगी : आपका फंड सिलेक्शन ज्यादा अच्छा नहीं है। आपके पोर्टफोलियो में हद से ज्यादा फंड है, इसलिए आपको कुछ फंड से निकल जाना चाहिए। आप एचडीएफसी इक्विटी फंड, बिड़ला इक्विटी फंड, आईडीएफसी प्रीमियर इक्विटी, रिलायंस इक्विटी अपॉर्च्युनिटीज फंड में निवेश जारी रख सकते हैं। आपको इक्विटी म्यूचुअल फंड में समय समय पर रकम बढ़ाते रहना चाहिए।


बजट में टैक्स बदलाव नॉन इक्विटी फंड्स के लिए किया गया है। 3 साल से ज्यादा के निवेश पर लॉंन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगता है और अब 10 फीसदी की बजाय 20 फीसदी लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगेगा। पुराने निवेश पर टैक्स लागू होने पर फिलहाल सफाई नहीं आई है। इसका शॉर्ट टर्म डेट फंड पर सबसे ज्यादा असर पड़ सकता है।     


वीडियो देखें