Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: जानिए टैक्स बचत के आसान फंडे

प्रकाशित Sat, 09, 2014 पर 15:34  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स एक ऐसा विषय है जिसके बारे में हममें से ज्यादातर लोग सोचना पसंद नहीं करते हैं। उलटे इनकम टैक्स का नाम आते ही हम परेशान हो जाते हैं। हालांकि पूरे साल हमारी कोशिश रहती है कि हम ज्यादा से ज्यादा टैक्स बचाएं और इसके लिए हम कई तरह के निवेश भी करते हैं लेकिन फिर भी कई बार हम इनमें उलझ जाते हैं। आपकी इसी टैक्स से जुड़ी उलझन को सुलझाकर आसान बनाते हैं टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया। तो जानिए टैक्स से जुड़े आपके सभी सवालों का जवाब टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया से।


सवाल : 31 जुलाई की तारीख निकल चुकी और इनकम टैक्स नहीं भर पाएं तो अब क्या करें?


सुभाष लखोटिया : 31 जुलाई रिटर्न भरने की आखिरी तारीख थी। अगर कोई टैक्स बकाया नहीं है, रिटर्न नहीं है तो कोई परेशानी नहीं होगी। करदाता ऐसे स्थिति में भी रिटर्न भर सकते हैं, कोई जुर्माना या पीनल इंटरेस्ट नहीं लगेगा। लेकिन अगर टैक्स बकाया है तो पहले टैक्स चुकाएं फिर रिटर्न फाइल करें। टैक्स बकाया होने पर टैक्स की बची राशी पर पीनल इंटरेस्ट लगेगा।


सवाल : मैं नेपाल में काम करता हूं, भारत में कोई इनकम नहीं है। क्या भारत में रिटर्न भरना होगा?     


सुभाष लखोटिया : एनआरआई और भारत में इनकम नहीं है तो आपको रिटर्न भरने जरूरत नहीं है। अगस्त 2013 में 2.40 लाख रुपये का ईएसओपी मिला है। भारत में मिले ईएसओपी की रकम पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। 


सवाल : बैंक ने एफडी पर 30 फीसदी टीडीएस काटा और फॉर्म 16ए नहीं दिया। क्या करें?


सुभाष लखोटिया : मुमकिन है कि बैंक से पैन नंबर गुम हो गया हों। पैन नहीं होने पर बैंक 30 फीसदी नहीं बल्कि 20 फीसदी टीडीएस काट सकता है। आपके बैंक ने 20 फीसदी टीडीएस ही काटा होगा। आप बैंक से फॉर्म 16ए लेकर सभी डिटेल चेक करें। आईटी वेबसाइट पर भी आप फॉर्म 26एएस में अपने काटे गए टीडीएस की पूरी जानकारी देख सकते हैं। कुल इनकम पर टैक्स जोड़े और बैंक, कंपनी का टीडीएस जोड़कर देखें। अगर ज्यादा टैक्स कटा तो रिटर्न भरकर रिफंड लें। 


सवाल : दोस्त की मृत्यू के बाद उसकी पत्नी होमलोन चुका रही है। क्या उसकी पत्नी टैक्स छूट का फायदा ले सकती है?        


सुभाष लखोटिया : जिसने लोन लिया है उसी व्यक्ति को होमलोन में टैक्स छूट का फायदा मिल सकता है। पत्नी ने होम लोन नहीं लिया हैं तो उन्हें छूट का फायदा नहीं मिलेगा। परंतु पति की मृत्यू के बाद पत्नी घर की मालिक होगी और इसलिए उन्हें लोन पर छूट मिलेगी।


वीडियो देखें