Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

टैक्स बचत के लिए सही फाइनेंशियल प्लान

प्रकाशित Sat, 16, 2014 पर 13:56  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अब आप 80सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक का निवेश कर सकते हैं। यानि अब आप पहले से 50,000 रुपये ज्यादा पर टैक्स बचा सकते हैं। टैक्सपेयर्स के लिए ये किसी गिफ्ट वाउचर से कम नहीं है, इसलिए टैक्स बचत के लिए कहीं भी पैसा लगाने से अच्छा है, कुछ चुनिंदा विकल्प के बारे में जानें, जिससे आपको मिल सके आपको अपने पैसे पर पूरा रिटर्न। आज योर मनी में हम ऐसे ही कुछ टैक्स बचत विकल्पों के बारे में आपको जानकारी देंगे। इस पर जानकारी देंगे सर्टिफाइड फाइनेशियल प्लानर और इन्वेंचर ग्रोथ सिक्योरिटीज के मेहुल अशर।


टैक्स बचाने के लिए टैक्स सेविंग फिक्सड डिपॉजिट एक अच्छा ऑप्शन है, इसमें 9 से 9.5 फीसदी तक का रिटर्न मिलता है, क्योंकि ये एफडी है तो किसी भी फिक्स्ड डिपॉजिट की तरह ये एक सुरक्षित ऑप्शन है, इसमें आपकी 1 लाख रुपये तक की मूल रकम इंश्योर्ड रहती है। टैक्सेशन से जुड़ी बात करें तो इस पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स लगता है, वहीं लिक्विडिटी के हिसाब से ये रेगुलर एफडी जितना फ्लेक्सिबल नहीं है, यहां मैच्योरिटी से पहले पैसे नहीं निकाले जा सकते, वो निवेशक जो ज्यादा रिस्क नहीं उठाना चाहते हैं और साथ ही अपना पैसा किसी सुरक्षित जगह लगाना चाहते हैं, तो वो टैक्स बचत के लिए टैक्स सेविंग एफडी का विकल्प जरूर चुन सकते हैं, टैक्स सेविंग एफडी में हम स्मार्ट टिप यही देंगे कि हर महीने नियमित रकम के लिए इसमें इन्ट्रेस्ट पेआउट ऑप्शन चुन सकते हैं।


सही टैक्स प्लानिंग से आप अपनी आमदनी पर टैक्स छूट का फायदा तो उठा सकते हैं, लेकिन उससे पहले जरूरी ये जानना कि आपकी टैक्स छूट पाने की लिमिट कितनी बची है, जैसे बच्चों की ट्यूशन फीस, होम लोन रीपेमेंट हो या फिर इम्लॉय प्रोविडेंट फंड, इन सबके जरिए आप थोड़ा बहुत टैक्स तो ऐसे ही बचा लेते हैं, लेकिन इसके बाद भी अगर आपको टैक्स बचाने की जरूरत लग रही है, तो यहां टैक्स बचाने के लिए हमारी पसंद है, पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानि पीपीएफ, और बजट ने इसको पहले से ज्यादा और आकर्षक बना दिया है, अब आप एक साल में पीपीएफ में एक लाख नहीं बल्कि 1.5 लाख रुपये तक लगा सकते हैं। ये ज्यादा रिस्क नहीं उठाने वालों के लिए खासकर सेल्फ इंपल्यॉड प्रोफेशनल्स के लिए अच्छा ऑप्शन है, रिटर्न की बात करें तो, इस वक्त पीपीएफ पर 8.7 फीसदी का रिटर्न मिल रहा है, और इसमें सबसे अच्छी बात है कि मैच्योरिटी पर भी कोई टैक्स नहीं लगता यानि टैक्स बचत के लिए सबसे बेहतर और सुरक्षित ऑप्शन है। पीपीएफ के लिए हमारी स्मार्ट टिप होगी कि अगर आप 5 तारीख से पहले इसमें इन्वेस्टमेंट शुरू करते हैं तो आपको उस महीने का भी ब्याज मिलेगा। पीपीएफ ज्यादा जोखिम नहीं उठाने वालों के लिए अच्छा विकल्प है। निवेश की राशि 500 से 1.5 लाख रुपये तक हो सकती है। इसमें 15 साल का लॉक इन पीरियड होता है।


वीडियो देखें