Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनी: निवेश में टेक्नोलॉजी की मदद

प्रकाशित Mon, 03, 2014 पर 14:02  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आज जिंदगी के हर पहलू में टेक्नोलॉजी का उपयोग बढ़ता जा रहा है। योर मनी में हम स्मार्टफोन और तकनीक के माध्यम से पर्सनल फाइनेंस की प्लानिंग करने के गुर सिखा रहे हैं। इस मुद्दे पर सालह देंगे रूंगटा सिक्योरिटीज के हर्षवर्धन रूंगटा।


हम अपने पीएफ की रिस्क प्रोफाइलिंग करने, उसके भविष्य की वैल्यू जानने, निवेश करने और मॉनीटरिंग के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग कर सकते हैं।


आज कई ऐसे टूल्स उपलब्ध हैं जिनके जरिए हम अपने निवेश से जुड़े रिस्क की प्रोफाइलिंग और उसकी गणना कर सकते हैं। हम इन टूल्स पर अपने सवाल रखकर जानकारियां हासिल कर सकते हैं और निवेश करने के पहले रिस्क से मिलने वाले फायदे और नुकसान को समझ सकते हैं।


हमें कई ऑनलाइन कैल्कुलेटर उपलब्ध हैं जिनके जरिए हम अपने निवेश के भावी मूल्य की गणना कर सकते हैं। इन कैल्कुलेटरो का उपयोग वित्तीय लक्ष्य के गणना में भी किया जा सकता है। इसके अलावा इंश्योरेंस कंपनी की वेबसाइट पर उपलब्ध कैल्कुलेटर के जरिए हम अपने इंश्योरेंस कवर की गणना कर सकते हैं।


आज निवेश में टेक्नोलॉजी का सबसे ज्यादा उपयोग हो रहा है। टेक्नोलॉजी का उपयोग करके हम अपने निवेश को ऑनलाइन ट्रैक कर सकते है। आज हमें कई पोर्टलों के जरिए ऑनलाइन आरडी लेने, आनलाइन म्युचुअल फंड खरीदनें और ऑनलाइन इंश्योरेंस कंपेयर करने और खरीदने की सुविधा हासिल है।


हर्षवर्धन रूंगटा ने बताया कि आज ऐसे कई ऑनलाइन सॉफ्टवेयर या टूल्स उपलब्ध हैं जिनके जरिए हम निवेश करने के पहले अपनी जोखिम उठाने की क्षमता की जांच कर सकते हैं। इन टूल्स का उपयोग करते समय निवेशक से कुछ प्रश्न किए जाते हैं जिनके जबाबों के जिरिए निवेशक की जोखिम उठाने की क्षमता की जानकारी की जाती है। इनमें से कुछ टूल्स मुफ्त हैं और कुछ के लिए शुल्क देना होता है।


वीडियो देखें