टैक्स गुरूः कहां निवेश से बचेगा टैक्स -
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरूः कहां निवेश से बचेगा टैक्स

प्रकाशित Sat, 13, 2014 पर 13:43  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स एक ऐसा शब्द जिसे सुनते ही हम परेशान हो जाते हैं लेकिन अब हाजिर है टैक्स बचाने में आपकी मदद करने वाले शो टैक्स गुरू। इनकम टैक्स सिर्फ टेंशन नहीं है बल्कि इसके अलग अलग नियमों को जानकार आप बचा सकते हैं अपना ढेर सारा टैक्स। टैक्स से जुड़ा कोई सवाल नहीं है जिसका जवाब टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया के पास ना हो। तो आइये जानते हैं आपके टैक्स से जुड़े सवालों के जवाब टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया से।


सवालः क्या एक बार निकाले गए पैसे दोबारा कैपिटल गेन अकाउंट स्कीम में डाला जा सकता है?


सुभाष लखोटिया: स्कीम में सारे नियम पूरे साफ तौर पर दिए गए हैं और अगरे आपके निकाले गए पैसे प्रॉपर्टी खरीदने के काम में नहीं आ पाते हैं तो 60 दिन के अंदर आप पुनः पैसे कैपिटल गेन अकाउंट में जमा करा सकते हैं।


सवालः डिपॉजिट ए/डिपॉजिट बी खाते से मिले ब्याज पर टैक्स कैसे लगता है?


सुभाष लखोटिया: डिपॉजिट ए/डिपॉजिट बी खाते के ब्याज पर टैक्स लगता है। इसका ब्याज इनकम में जोड़कर टैक्स लगेगा। डिपॉजिट ए एक ब्याज खाता है और साल भर में इसके 10,000 रुपये तक के ब्याज पर टैक्स छूट मिलती है। सेक्शन 80टीटीए के तहत बचत खाते के ब्याज पर टैक्स छूट मिल सकती है।


सवालः एनपीएस स्कीम के क्या फायदे हैं, एफडी, टैक्स फ्री बॉन्ड, आईपीओ और ईटीएफ में निवेश की सीमा कितनी है?


सुभाष लखोटिया: न्यू पेंशन स्कीम (एनपीएस) के तहत 2 तरह के अकाउंट होते हैं। टीयर 1 अकाउंट में तनख्वाह का 10 फीसदी तक निवेश कर सकते हैं। टियर 2 अकाउंट में निवेश करने की कोई सीमा नहीं है। अगर आपकी आय 10 लाख रुपये सालाना से कम है तो टैक्स फ्री बॉन्ड में निवेश करना अच्छा विकल्प नहीं है। 10 लाख रुपये सालाना से ज्यादा आय होने पर टैक्स प्री बॉन्ड में निवेश करें। एफडी, टैक्स प्री बॉन्ड, एनपीएस और पीएफ में थोड़ा थोड़ा निवेश करें।


सवालः मेरे ससुरजी मेरी पत्नी को रिटायरमेंट फंड के 16 लाख रुपये देना चाहते है क्या इस पर टैक्स लगेगा? 


सुभाष लखोटिया: आपकी पत्नी अपने पिता से गिफ्ट ले सकती हैं और पिता अपनी बेटी को गिफ्ट दे सकते हैं। दोनों पर टैक्स की कोई देनदारी नहीं होगी। रिश्तेदार से गिफ्ट लेने पर कोई टैक्स नहीं लगता। बैंक एफडी का ब्याज पत्नी की इनकम में जुड़ेगा और फिर उस पर टैक्स लगेगा।


वीडियो देखें