Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: सुलझाएं टैक्स से जुड़ी आपकी उलझन

प्रकाशित Sat, 20, 2014 पर 18:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स का जिक्र आते है हमारे माथे पर सिकल की लकीरें जरूर खिंच जाती है लेकिन इन लकिरों को ही दूर करता है टैक्स गुरु। हम आपको सही टैक्स प्लानिंग की राह दिखाते है और टैक्स सही किस तरह से अदा करें ये भी बताते हैं यानि कुल मिलाकर हम बनाते है टैक्स को आसान जिसमें हमारी मदद करते है आप सभी के चहेते टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया। तो आइए टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया से लेते हैं आपकी टैक्स से जुड़ी उलझनों पर हल।


सवाल : किसान विकासपत्र को दोबारा नए जोश के साथ लांच किया गया है। टैक्स गुरू आप इस किसान विकासपत्र में क्या खास देख रहें हैं। क्या हैं इसकी खासियतें, इसमें निवेश करना चाहिए की नहीं करना चाहिए?


जबाब: नये किसान पत्र में निवेश किया जाने वाला पैसा 8 साल 7 महीने में दो गुना होगा।  पहले वाले किसान विकास पत्र में ये मियाद थी केवल 5.5 साल। दूसरी बात ये है कि नए किसान विकास पत्र से सालाना 8.7 फीसदी ब्याज मिलेगा।


तीसरी बात ये है कि किसान विकास पत्र खरीदने के लिए केवाईसी और पैन कॉर्ड की जरूरत नहीं है। लेकिन किसान विकास पत्र के अप्लीकेशन फार्म पर आपको अपनी फोटो लगानी होगी। किसान विकास पत्र एक सुरक्षित निवेश विकल्प है। इसमें बिना किसी चिंता के निवेश किया जा सकता है।


लेकिन एचयूएफ और एनआरआई किसान विकास पत्र में निवेश नहीं कर सकते। इसी तरह कॉर्पोरेट सेक्टर और पॉर्टनरशिप फर्म भी किसान विकास पत्र में निवेश नहीं कर सकते। किसान विकास पत्र 1000, 5000, 10000, 50000 के डिनॉमिलेशन में मिलेंगे। किसान विकास पत्र में निवेश करने की कोई ऊपरी सीमा नहीं है। इसमें कितने भी पैसे निवेश किए जा सकते हैं। सेविंग पर मिलने वाली ब्याज के घटने के आसार दिखाई दे रहे हैं। कुछ बैंकों ने तो सेविंग और एफडी पर ब्याज दर घटानी भी शुरु कर दी है। ऐसे में किसान पत्र निवेश का एक अच्छा विकल्प बन सकता है।


किसान विकास पत्र की सबसे बड़ी कमी यही है कि इस पर किसी भी तरह का टैक्स बेनिफिट नहीं मिलेगा। इसकी मैच्योरिटी पर टीडीएस कटेगा, ब्याज पर छूट नहीं मिलेगी।


सवाल: रिटायर्ड सरकारी कर्मचारी हूं मैने इस साल तक पीपीएफ में 50000 रुपया और यूलिप में 50000 रुपया निवेश किया है। मैं ईएलएसएस में 50000 रुपये और निवेश करना चाहता हूं। अभी मैं निवेश करुं या नहीं?


जवाब: अगर आप लंबे समय के लिए इक्विटी में निवेश करते हैं तो आपको फायदा ज्यादा होगा। आपने ईएलएसएस में निवेश कर दिया तो आपको उसके साथ 3 साल तक बंधे रहना पड़ेगा। लेकिन ईएलएसएस में फायदा ज्यादा होने का भी चांस है। लेकिन अगर आप जोखिम से बचना चाहते हैं तो बाकी बचे 50000 रुपये पीपीएफ में ही निवेश कर दें। पीपीएफ में निवेश करने से टैक्स बचत का भी फायदा मिलेगा। पीपीएफ के ब्याज पर भी टैक्स नहीं लगता और ये पूरी तरह से सुरक्षित निवेश विकल्प है।


सवाल: मुझे ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी से फ्लैट अलॉट हुआ है। फ्लैट की रकम 7 साल में 14 किश्तों में देनी है। मैनें किसी बैंक या वित्तीय संस्था से लोन नहीं लिया है। मैं इस फ्लैट के लिए 2014-15 में दो किश्तें जमा कर चुका हूं। फ्लैट का पजेशन अभी नहीं मिला है। मुझे कौन से टैक्स छूट मिल सकते हैं?


जवाब: चूंकि आपको फ्लैट का पजेशन अभी मिला नहीं है इसलिए ब्याज पर छूट नहीं मिलेगी। लेकिन आपको होमलोन रिपेमेंट के लिए किए गये पेमेंट पर टैक्स छूट का फायदा मिलेगा। आप होम लोन रिपेमेंट पर 80 सी के तहत मिलने वाली छूट का लाभ ले लें।