Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनीः कैसी प्लानिंग से होगा सटीक निवेश

प्रकाशित Sat, 03, 2015 पर 17:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मनपसंद कार, घर, विदेश में छुट्टियां या बच्चों की पढ़ाई- इन सबके लिए जरूरी होती है बड़ी रकम की और ये रकम आपको मिल सकती है सही फाइनेंशियल प्लानिंग से। सही फाइनेंशियल प्लानिंग मतलब सही तरीके से इन्वेस्टमेंट, पर्याप्त इंश्योरेंस कवर और इमरजेंसी बैकअप। और, यहां आपकी मदद करता है योर मनी, जहां हमारे एक्सपर्ट आपके लिए करते हैं कंपलीट फाइनेंशियल प्लानिंग। आपके सवालों के जवाब देने के लिए आज हमारे साथ हैं वाइजइन्वेस्ट एडवाइजर के हेमंत रुस्तगी।


सवाल: आमदनी 30,000 रुपये हर माह है और इंश्योरेंस पॉलिसीज में 40,000 रुपये साल का निवेश है और 30 लाख का टर्म प्लान है। आरडी में 3,500 रुपये हर माह, पीपीएप में 4,000 रुपये हर माह और एसआईपी में 2,000 रुपये हर माह का निवेश कर रहा हूं। किस फंड के जरिए एसआईपी की है, सलाह दें, बेहतर भविष्य के लिए निवेश करना है, सुझाव दें?


हेमंत रुस्तगी: म्युचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश कर सकते हैं और आपके चुने गए दोनों फंड अच्छे हैं। गोल्ड फंड में 50 फीसदी निवेश का फैसला सही नहीं है और गोल्ड में 10 फीसदी से ज्यादा निवेश की सलाह नहीं है। रिलायंस गोल्ड फंड की जगह रिलायंस इक्विटी ऑपर्च्युनिटी फंड में निवेश करें। इसके लक्ष्य और निवेश की अवधि तय करें और 2017 में मैच्योर होने वाली पॉलिसीज की रकम को म्यूचुअल फंड में लगाएं। आपका पीपीएफ में निवेश बढ़िया विकल्प है तो इसमें निवेश बनाए रखें।


सवालः आय 8.9 लाख सालाना है और पीएम में 50,000 रुपये सालाना निवेश किया है और बजाज आलियांज पॉलिसी में  24,000 रुपये साल का निवेश है। टैक्स छूट के लिए 75 हजार का निवेश और करना है, आधी रकम ईएलएस में लगाना चाहता हूं, सुझाव दें?


हेमंत रुस्तगी: पीपीएफ और ईएलएसएस में निवेश अच्छा आइडिया है और टैक्स बचाने और इक्विटी मार्केट में निवेश के लिए ईएलएसएस बेस्ट है। ईएलएसएस में 3 साल का लॉक-इन पीरियड होता है और ईएलएसएस के रिटर्न पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स टैक्स नहीं लगता है। आप म्यूचुअल फंड के लिए एक्सिस लॉन्ग टर्म इक्विटी या रिलायंस टैक्स सेवर फंड में निवेश कर सकते हैं।


वीडियो देखें