Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

आ गया फैसले का समय, अब क्या करें

प्रकाशित Wed, 07, 2015 पर 14:26  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नए साल की शुरूआत तो हो गई है, लेकिन कारोबारी साल खत्म होने को है। वक्त आ गया है आईटी डिक्लेरेशन सबमिट करने का। अक्सर लोग अपने आईटी डिक्लेरेशन को मार्च तक टालते रहते हैं, क्यों ना इसकी शुरूआत जनवरी से ही की जाए। आइए हम ऑप्टिमा मनी मैनेजर्स के डायरेक्टर पंकज मठपाल से जानते हैं कि जनवरी महीने में कौन से फाइनेंशियल फैसले जरूरी होते हैं।


पंकज मठपाल के मुताबिक नए साल में अपनी फाइनेंशियल प्लानिंग शुरू करें। जनवरी महीने में अपने टैक्स इन्वेस्टमेंट की जांच करें। सुखी जीवन के लिए वित्तीय अनुशासन जरूरी होता है। इसके लिए सबसे पहले अपने घर का बजट लिखकर रखें। अगर बजट लिखा रहेगा तो आप पैसे बचा पाएंगे।


पंकज मठपाल ने कहा कि नए साल के इस पहले महीने में वित्त वर्ष 2015 की टैक्स प्लानिंग पूरी करें। अपने एम्प्लॉयर को टैक्स डिक्लेरेशन जमा कर दें। टैक्स प्लानिंग के लिए मार्च का इंतजार न करें। अगर पिछले साल का आईटीआर दाखिल नहीं किया है तो उसे अभी दाखिल कर दें। क्योंकि 31 मार्च के बाद वित्त वर्ष 2013-14 का रिटर्न नहीं भर पाएंगे।


पंकज मठपाल के मुताबिक अपनी फाइनेंशियल प्लानिंग करते समय पर्याप्त लाइफ और हेल्थ इंश्योरेंस लें और सिर्फ टैक्स बचाने के लिए इंश्योरेंस न लें। बल्कि लाइफ कवर के लिए टर्म इंश्योरेंस लें। अपना क्रेडिट कार्ड बिल वक्त पर चुकाएं, अगर क्रेडिट कार्ड बकाया बहुत ज्यादा है तो अगले कुछ महीनों में उसे चुकाएं।


वीडियो देखें