तीसरी तिमाही में कैसा रहा कंपनियों का प्रदर्शन

प्रकाशित Mon, 16, 2015 पर 14:37  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सभी बड़ी कंपनियों के तिमाही नतीजे आ चुके हैं और अब वक्त है ये जानने का, कि कौन सी कंपनियां पास हुई हैं और कौन सी फेल। साथ ही कौन सी वो कंपनियां हैं जिन्होंने निराश जरूर किया है लेकिन आगे के लिए दमदार लग रही हैं। सेंसेक्स की बात करें तो इसकी 30 कंपनियों का औसत मुनाफा करीब 1.75 फीसदी गिरा है जबकि बिक्री 4.5 फीसदी। ऐसे में माहौल तो खराब ही लग रहा है लिहाजा सवाल उठता है कि अब बाजार में क्या रणनीति होनी चाहिए। किन शेयरों में पैसे लगाना चाहिए और कहां से निकल जाना चाहिए, इन्हीं सब पर सीएनबीसी आवाज़ की खास पेशकश।


नतीजे: कौन पास, कौन फेल ?


सीमेंट सेक्टर
सीमेंट सेक्टर में एसीसी का मुनाफा 18 फीसदी बढ़ा जबकि अल्ट्राटेक सीमेंट का मुनाफा 1.6 फीसदी गिरा है। वहीं ग्रासिम का मुनाफा 0.5 फीसदी बढ़ा है।


बैंकिंग सेक्टर
बैंकिंग सेक्टर में एसबीआई का मुनाफा 30 फीसदी बढ़ा है। वहीं आईसीआईसीआई बैंक का मुनाफा 14 फीसदी, एक्सिस बैंक का मुनाफा 18.5 फीसदी, पीएनबी का मुनाफा 2.5 फीसदी और यस बैंक का मुनाफा 30 फीसदी बढ़ा है। हालांकि बैंक ऑफ इंडिया का मुनाफा 70.4 फीसदी गिरा है।   


फार्मा सेक्टर
फार्मा सेक्टर में सिप्ला का मुनाफा 15.3 फीसदी बढ़ा है और ल्यूपिन का मुनाफा 26.3 फीसदी बढ़ा है। वहीं वॉकहार्ट का मुनाफा भी 14 फीसदी बढ़ा है। फार्मा सेक्टर में खरीब नतीजों में डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज का मुनाफा 7.1 फीसदी घटा है। सन फार्मा का मुनाफा 47 फीसदी और ग्लेनमार्क का मुनाफा 47 फीसदी घटा है।


ऑटो सेक्टर
ऑटो सेक्टर में बजाज ऑटो का मुनाफा 5 फीसदी घटा है, टाटा मोटर्स का मुनाफा 25.4 फीसदी घटा है और अपोलो टायर का मुनाफा 45 फीसदी घटा है। वहीं अच्छे नतीजों में हीरो मोटोकॉर्प का मुनाफा 11 फीसदी, मारुति सुजुकी का मुनाफा 17.7 फीसदी, एमएंडएम का मुनाफा 6 फीसदी, आयशर मोटर्स का मुनाफा 60 फीसदी बढ़ा है।


कैपिटल गुड्स सेक्टर
कैपिटल गुड्स सेक्टर में बीएचईएल का मुनाफा 69.4 फीसदी घटा है जबकि एलएंडटी का मुनाफा 9 फीसदी बढ़ा है।


रियल एस्टेट सेक्टर
रियल एस्टेट सेक्टर में डीएलएफ का मुनाफा 10 फीसदी घटा है।


आईटी सेक्टर
तीसरी तिमाही में आईटी सेक्टर में एचसीएल टेक का मुनाफा 2.24 फीसदी, इंफोसिस का मुनाफा 5 फीसदी, वहीं टीसीएस का मुनाफा 3 फीसदी बढ़ा है। टेक महिंद्रा का मुनाफा 11.9 फीसदी बढ़ा है जबकि विप्रो का मुनाफा 5.1 फीसदी बढ़ा है।


दलजीत सिंह कोहली की राय


दलजीत सिंह कोहली के मुताबिक तीसरी तिमाही में कंपनियों के निराशाजनक नतीजे रहे हैं और कंपनियों की आय में हल्की बढ़त देखी गई है जबकि मुनाफे में गिरावट आई है। हालांकि एबिटडा मार्जिन में राहत देखने को मिली है। निफ्टी में एसबीआई, ल्युपिन, एचसीएल टेक के नतीजे अच्छे रहे हैं जबकि एमएंडएम, हीरो मोटोकॉर्प, टाटा मोटर्स, एसीसी, अंबुजा सीमेंट, कोल इंडिया, ओएनजीसी, ऑयल इंडिया, गेल, सन फार्मा, टाटा स्टील, सेसा स्टरलाइट के नतीजे खराब रहे हैं।


मिडकैप में लिबर्टी शूज, प्रिज्म सीमेंट, मंगलम सीमेंट, एल्सटॉम टीएंडडी के कमजोर नतीजे रहे हैं। वहीं मिडकैप में कैपिटल फर्स्ट, एचएसआईएल और कजारिया सिरामिक्स के अच्छे नतीजे देखे गए हैं।


असित सी मेहता के के सुब्रह्मण्यम की पसंद


के सुब्रह्मण्यम का कहना है कि तिमाही नतीजों के बाद बजाज ऑटो खरीदना चाहिए और इसका 6-9 महीने का लक्ष्य 2600 रुपये है। वहीं ल्यूपिन में भी खरीदारी की राय है और 6-9 महीने का लक्ष्य 1950 रुपये है। साथ ही टेक महिंद्रा खरीदना चाहिए जिसमें 2 महीने में 3200 रुपये का लक्ष्य मिल सकता है।


वीडियो देखें