Moneycontrol » समाचार » निवेश

पीपीएफ या सुकन्या समृद्धि योजना, कौन बेहतर!

प्रकाशित Fri, 20, 2015 पर 15:19  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

निवेश के तमाम विकल्पों में से आपके लिए कौन सा विकल्प सबसे अच्छा है, आप कहां निवेश करके बिना जोखिम के ज्यादा से ज्यादा रिटर्न कर सकते हैं? जिनका जवाब हम आपको देने की कोशिश कर रहे हैं। आपके निवेश से जुड़े सवालों का जवाब दे रहे हैं आनंद राठी फाइनेंशियल सर्विसेज के प्राइवेट वेल्थ मैनेजमेंट डायरेक्टर फिरोज अजीज।


सवाल: इक्विटी म्युचुअल फंड में 3 ऑप्शंस होते हैं - ग्रोथ, डिविडेंड पेआउट और डिविडेंड रिइन्वेस्टमेंट, इनमें से कौन सा सबसे अच्छा है?


जवाब: इक्विटी म्युचुअल फंड में निवेश के लिए ग्रोथ और डिविडेंड के विकल्प मिलते हैं। इनमें निवेश करने का फैसला आपके पैसे की जरूरत, फंड की डिविडेंड हिस्ट्री और रिइन्वेस्टमेंट के विकल्प पर निर्भर करता है। अगर आपको नियमित अंतराल पर पैसे की जरूरत हो तो डिविडेंड पेआउट ऑप्शन चुनें। वहीं अगर आपको तुरंत पैसे की जरूरत ना हो तो ग्रोथ ऑप्शन चुनें। ग्रोथ ऑप्शन में निवेशक को पावर ऑफ कंपाउंडिंग का फायदा मिलता है।


इक्विटी में निवेश लंबे समय के नजरिए से करना चाहिए। आम तौर पर ग्रोथ प्लान में डिविडेंड प्लान के मुकाबले बेहतर रिटर्न मिलता है। लेकिन एनएवी में गिरावट होने पर डिविडेंड और ग्रोथ ऑप्शंस पर एक जैसा असर पड़ता है। उतार-चढ़ाव वाले बाजार में डिविडेंड रिइन्वेस्टमेंट प्लान में निवेश करना बेहतर होता है। अगर मौजूदा हालात में निवेश करना है तो ग्रोथ ऑप्शन में निवेश करना बेहतर रहेगा।


सवाल: मेरी आय 4.5 लाख रुपये सालाना है। मैनें 13 लाख रुपये का हाउसिंग लोन ले रखा है। मेरी बेटी 8.5 साल की है। मैं सालाना 50,000 रुपये निवेश कर सकता हूं। मैं सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करना चाहता हूं, क्या ये पीपीएफ से बेहतर है?


जवाब: पीपीएफ और सुकन्या समृद्धि योजना के लिए टैक्स नियम एक जैसे हैं। दोनों में निवेश पर सेक्शन 80सी के तहत छूट मिलती है। पीपीएफ पर मौजूदा ब्याज दर 8.7 फीसदी है, वहीं सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज दर 9.1 फीसदी है। इन दोनों ही योजनाओं में आगे चलकर ब्याज दरें बदल सकती हैं। पीपीएफ में लॉक इन पीरियड 15 साल है, जबकि सुकन्या समृद्धि योजना में लॉक इन पीरियड लड़की की उम्र 21 साल होने तक है। हम पीपीएफ में निवेश के 7वें साल से 50 फीसदी तक रकम निकाल सकते हैं। वहीं सुकन्या समृद्धि योजना में लड़की की उम्र 18 साल होने के बाद ही 50 फीसदी तक रकम निकाली जा सकती है। आप पैसे की अपनी जरूरत के मुताबिक पीपीएफ या सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश का फैसला लें।


वीडियो देखें