Moneycontrol » समाचार » बीमा

चाइल्ड प्लान लेते समय किन बातों का रखें ध्यान

प्रकाशित Mon, 03, 2015 पर 16:31  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

फाइनेंशियल प्लानिंग का एक जरूरी हिस्सा होता है बीमा यानी इंश्योरेंस। लेकिन इस बारे में आम लोगों में जानकारी कम है। इंश्योरेंस क्यों जरूरी है, क्यों लेना चाहिए इंश्योरेंस और किस तरह का प्लान चुनें। इन्हीं सभी सवालों के जवाब देने की हम कोशिश कर रहे हैं लाइफ इंश्योरेंस की समझ में।


बच्चों की पढ़ाई, शादी जैसी जरूरतों के लिए भी आप इंश्योरेंस पॉलिसी ले सकते हैं। कौन सा चाइल्ड प्लान लेना चाहिए और कैसे आइए समझते हैं इंश्योरेंस की समझ में। महंगाई के इस दौर में बच्चे को सही शिक्षा दे पाना मां-पिता के लिए आज एक चुनौती हो गया है। ऐसे में प्लानिंग सबसे कारगर साबित होती है। बच्चे की शिक्षा और भविष्य में होने वाले खर्चों का सामना करने के लिए एक बेहतर चाइल्ड प्लान बेहद उपयोगी होता है। चाइल्ड प्लान लेते समय किन बातों का ध्यान रखें आइए समझते हैं।


फाइनेंशियल प्लानर अर्णव पंड्या का कहना है कि बच्चों की पढ़ाई और शादी जैसी जरूरतों के लिए बीमा पॉलिसी का होना जरूरी है। लेकिन चाइल्ड प्लान में बच्चे के बजाय पैरेंट्स का लाइफ कवर होना चाहिए। ऐसे प्लान में पैरेंट्स की मृत्यू पर डेथ बेनिफिट भी मिलता है, और पॉलिसी भी जारी रहती है। लिहाजा साफ जाहिर है कि ऐसी पॉलिसी में बच्चे को पैरेंट्स की मृत्यु के बाद भी पॉलिसी का फायदा मिलता है। पैरेंट्स की मृत्यु के बाद बिना प्रीमियम दिए ही पॉलिसी जारी रहती है। बाजार में ट्रेडिशनल और यूलिप दोनों में चाइल्ड प्लान उपलब्ध हैं।


वीडियो देखें