Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: जानें क्या है इलेक्ट्रॉनिक वेरीफिकेशन कोड

प्रकाशित Sat, 08, 2015 पर 19:53  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स एक ऐसा टॉपिक है जिसका नाम आते ही टेंशन हो जाती है, आपकी इसी टेंशन को दूर कर टैक्स को आसान बनाते हैं टैक्स गुरु। तो आइए टैक्स से जुड़ी हर बारिकियों पर लेते हैं टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया की सलाह।


सवाल: लखोटिया जी ईवीसी क्या होता है और इसमें हमें किन बातों का ख्याल रखना चाहिए?


जवाब: इस बार इनकम टैक्स रूल 12 में बदलाव किया गया है। और आईटीआर रिटर्न भरने के नियमों में बदलाव किए गए हैं। अब ई-रिटर्न दो तरीके से भर सकते हैं। अब इलेक्ट्रॉनिक वेरीफिकेशन के जरिए ई-रिटर्न भरा जा सकता है। इसके लिए ईवीसी या इलेक्ट्रॉनिक वेरीफिकेशन कोड लागू किया गया है। इस कोड के जरिए रिटर्न भरने पर आईटीआर-5 बंगलुरू नहीं भेजना होगा। ईवीसी पाने के लिए आधार नंबर होना जरूरी है। अब रिटर्न फार्म पर आधार नंबर देना जरूरी है। आधार की प्रामाणिकता पूरी होने पर ये पैन नंबर से जुड़ जाएगा। पैन नंबर से जुड़ने के बाद ओटीपी जेनरेट होगा। इस ओटीपी के जरिए रिटर्न वेरीफाई करना होगा। इसके बाद रिटर्न इलेक्ट्रॉनिक तौर पर वेरीफाई माना जाएगा। ध्यान रखें कि ओटीपी सिर्फ 10 मिनट के लिए मान्य होगा।


अगर आधार नंबर नहीं है तो भी कोई मुश्किल नहीं है। आप एटीएम कार्ड को पैन नंबर से लिंक कर सकते हैं। एटीएम के पिन का बैंक में वेरीफिकेशन होने के बाद ईवीसी कोड मिलेगा जो टैक्सपेयर के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आएगा आब इस ईवीसी कोड के जरिए रिटर्न भरें, आईटीआर 5 बंगलुरु नहीं भेजना होगा। बता दें कि आधार कार्ड और एटीएम कार्ड नहीं होने और आय 5 लाख रुपये से ज्यादा होने पर ईवीसी नहीं मिलेगा।


वीडियो देखें