Moneycontrol » समाचार » टैक्स

इनकम टैक्स रिफंड में देरी, क्या करें आप

प्रकाशित Tue, 15, 2015 पर 09:58  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अगर आपके इनकम टैक्स रिफंड में देरी हो रही हो तो आप इनकम टैक्स रिटर्न में दी गई जानकारी दुबारा जांच लें। क्योंकि अगर आपकी सभी जानकारी सही है तो आपका रिटर्न एक से दो हफ्ते में आ जाना चाहिए। इनकम टैक्स रिफंड में देरी की क्या वजह हो सकती है और इससे बचने के क्या उपाय हैं, आइए जानते हैं।


अगर आपने इनकम टैक्स ज्यादा जमा करा दिया है तो उसे वापस लेने के लिए अब महीनों इंतजार करने की जरूरत नहीं है। सरकार का दावा है कि इस बार इनकम टैक्स डिपार्टमेंट 15 दिन के भीतर हर टैक्सपेयर्स का रिफंड दे देगा। ऐसे में अगर आपका इनकम टैक्स रिफंड नहीं आया है तो आप इसे incometaxindiaefiling.gov.in पर जाकर उसका स्टेटस जान सकते हैं। अगर यहां भी आपके रिफंड का स्टेटस नहीं दिख रहा है तो बहुत हद तक संभावना है कि इनकम टैक्स रिटर्न फाइलिंग में आपसे कोई भूल-चूक हुई हो।


कई बार फॉर्म 16 और 26एस में दी गई जानकारी और इनकम टैक्स रिटर्न में दी गई जानकारी में अंतर होने की वजह से रिफंड की प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ पाती है। होम लोन या इंश्योरेंस के नाम पर हुए डिडक्शन मेल नहीं खाने से भी रिफंड अटक जाता है। किसी ट्रस्ट को डोनेशन देने पर अगर आपने 80जी का नंबर नहीं फीड किया है तो भी रिफंड की रकम आपके आकलन से मेल नहीं खाती है।


कई बार फिक्स्ड डिपॉजिट पर बैंक ने टीडीसी रकम अलग दिखाई और आप अलग रकम दिखाते हैं, इससे भी रिफंड फंसने की संभावना रही है। ऐसी सूरत में आप रिवाइज्ड रिटर्न दाखिल कर सकते हैं। फिर भी अगर रिफंड को लेकर आपकी शिकायत है तो आप बंगलुरू के सेंट्रल प्रोसेसिंग सेंटर को इसकी जानकारी दे सकते हैं। क्योंकि सरकार का दावा है कि जिन लोगों के रिटर्न सही भरे गए हैं उनके रिफंड काफी तेजी से दिए जा रहे हैं। 9 सितंबर तक 45 लाख से ज्यादा लोगों के रिफंड प्रोसेस किए जा चुके हैं। जबकि 22 लाख से ज्यादा लोगों को रिफंड मिल भी चुका है।


वीडियो देखें