Moneycontrol » समाचार » निवेश

पहला कदम: क्या है इलेक्ट्रॉनिक मनी ट्रांसफर

प्रकाशित Sat, 10, 2015 पर 19:01  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ फाइनेंशियल लिट्रेसी की मुहिम का मकसद है ज्यादा से ज्यादा लोगों को बचत और निवेश की जरूरत को समझाना और देश के फाइनेंशियल सिस्टम से जोड़ना। अपनी इस मुहिम को हम देश के स्कूल, कॉलेजों और गांवों तक ले जा रहे हैं। और स्कूलों, कॉलेजों में हमें शानदार रिस्पॉन्स भी मिल रहा है।


अगर आप भी अपने गांव, रेसिडेंशियल सोसायटी, ऑफिस, कॉलेज या स्कूल में जागरुकता फैलाना चाहते हैं और हमारी टीम की एक्सपर्ट एडवाईज चाहते हैं, तो हमें लिख सकते हैं फेसबुक पर सीएनबीसी-आवाज़ के पेज पर या फिर आप हमारी वेबसाईट पहलाकदम डॉट इन पर भी अपना मेसेज छोड़ सकते हैं। टीवी पर इस खास डिप्लोमा कोर्स में पिछले हफ्ते हमने आपको पहले टर्म के 9वें चैप्टर को समझाया, जिसमें बात की बैंकिंग के लिए टेक्नोलॉजी को इस्तेमाल करने की। इसको ही आगे बढ़ाते हुए इस चैप्टर 10 में आपको बताएंगे तरह तरह के इलेक्ट्रॉनिक मनी ट्रांसफर के बारे में।


इलेक्ट्रॉनिक मनी ट्रांसफर यानि एक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में पैसा ट्रांसफर करने का हाईटेक तरीका। इलेक्ट्रॉनिक मनी ट्रांसफर के चलते अब चेक जमा करने के झंझट से छुटकारा मिल गया है। चेक से पैसा ट्रांसफर करने में ज्यादा वक्त लगता है और चेक में मामूली गड़बड़ी होने पर बाउंस होने का खतरा भी रहता है। इलेक्ट्रोनिक मनी ट्रांसफर ने मुश्किल आसान कर दी है।


इलेक्ट्रोनिक मनी ट्रांसफर की खासियत ये है कि इससे जमा की गई रकम सीधे बैंक अकाउंट में जाती है। साथ ही ट्रांजैक्शन में बेहद कम समय लगता है और पैसा सीधे अकाउंट होल्डर के खाते में जाता है। पैसा जमा होने की जानकारी भी तुरंत मिल जाती है और मनी ट्रांसफर करना काफी आसान है। हाल के दिनों में इलेक्ट्रोनिक मनी ट्रांसफर का चलन बढ़ गया है।


बता दें कि इलेक्ट्रॉनिक मनी ट्रांसफर के तहत आरटीजीएस की प्रक्रिया आती है, आरटीजीएस के जरिए बड़ी रकम ही ट्रांसफर होती है। आरटीजीएस में कम से कम 2 लाख रुपये ट्रांसफर होते हैं। आरटीजीएस में अधिकतम रकम की सीमा नहीं है, लेकिन बैंकों को आरटीजीएस की रकम की सीमा तय करने का हक है। आरटीजीएस पर फीस लगती है और आरटीजीएस से पैसा ट्रांसफर पर 2-5 लाख रुपये पर 30 रुपये तक फीस लगती है। हालांकि ट्रांसफर फीस घटाने का बैंकों को अधिकार है। ऐसे में आपके लिए सलाह है कि आरटीजीएस सुविधा वाले बैंक में ही खाता खोलें और आरटीजीएस बैंक की शाखा से भी होता है। घर बैठे ऑनलाइन आरटीजीएस भी मुमकिन है।


वीडियो देखें