Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः इमरजेंसी फंड बनाना क्यों है जरुरी

प्रकाशित Mon, 19, 2015 पर 17:06  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स से जुड़ी आपकी हर छोटी बड़ी टेंशन दूर करने के लिए हाजिर है टैक्स गुरु और टैक्स को आसान बनाने में आपकी मदद करेंगे टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया।


इमरजेंसी फंड बनाना क्यों है जरुरी


हर व्यक्ति को इमरजेंसी क्राइसिस फंड जरुर बनाना चाहिए। इमरजेंसी के लिए कैश रखने का जरुरत होती है। हेल्थ की दिक्कतों के लिए, उच्च शिक्षा के लिए और शादी जैसे मौकों के लिए इमरजेंसी फंड से मदद मिल सकती है। इमरजेंसी फंड के जरिए मुश्किल समय में रकम जुटाई जा सकती है। इमरजेंसी फंड के लिए बैंक एफडी तोड सकते है या पीपीएफ, पीएफ एकाउंट से पैसे निकाल सकते हैं। इसके अलावा शेयर बेचे जा सकते है या इक्विटी म्युचुअल फंड बेच सकते हैं। 


रिवर्स मॉर्गेज पर टैक्स के नियम


रिवर्स मॉर्गेज में बुजुर्गो के लिए लोन की विशेष स्कीम है। बैंक घर गिरवी रखकर लोन देती है। बुजुर्ग बैंक से हर महीने तय रकम ले सकते हैं। रिवर्स मॉर्गेज के जरिए रोजाना के और निजी खर्च पूरे हो सकते हैं। रिवर्स मॉर्गेज में प्रॉपर्टी के दस्तावेज बैंक के पास रखने होते हैं। जब तक प्रॉपर्टी का मालिक जीवित है तब तक उसे ईएमआई देने की जरुरत नहीं होती। बैंक का लोन प्रॉपर्टी का उत्तराधिकारी चुकाता है। रिवर्स मॉर्गेज के जरिए मिलने वाली रकम आय नहीं मानी जाती और कैपिटल गेन के नियम भी लागू नहीं होते हैं।        


वीडियो देखें