टैक्स से जुड़े सवाल-जवाब -
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स से जुड़े सवाल-जवाब

प्रकाशित Sat, 23, 2010 पर 12:20  |  स्रोत : Hindi.in.com

23 अक्टूबर 2010

सीएनबीसी आवाज़



टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया ने टैक्स समस्याओं से जुड़े कुछ सवालों के जवाब दिए हैं जो आपके भी काम आ सकते हैं।


नए सर्किल रेट पर टैक्स

टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया का कहना है कि एनसीआर में नए सर्किल रेट आने के बाद प्रॉपर्टी बेचने या खरीदने पर टैक्स की देनदारी बढ़ जाएगी।नए सर्किल रेट के बाद प्रॉपर्टी खरीदने पर स्टैंप ड्यूटी बढ़ गई है। जो भी व्यक्ति प्रॉपर्टी खरीदेगा, उसे बढ़ी हुई सर्किल दरों पर ज्यादा टैक्स देना होगा।

सर्किल रेट बढ़ने के बाद जिन्होंने प्रॉपर्टी बेची है उनकी भी आय बढ़ेगी। टैक्स गुरू के मुताबिक आयकर की धारा 50सी के तहत उन लोगों को भी लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन बढ़ने की वजह से ज्यादा टैक्स देना पड़ेगा।



विरासत में मिली रकम पर टैक्स

सुभाष लखोटिया का कहना है कि विरासत में मिली रकम पर टैक्स नहीं देना होगा। हालांकि अगर आपने विरासत में मिली रकम को नए निवेश या अन्य साधनों में लगाकर आय प्राप्त की है तो उस पर टैक्स देना होता है।



एफडी/म्युचुअल फंड पर टैक्स

टैक्स गुरू के मुताबिकमैच्योर एफडी पर मिलने वाले ब्याज पर आयकर लगेगा। एफडी से मिले ब्याज को आय में जो़ड़कर कुल राशि पर आयकर की देनदारी होगी। एफडी कितने दिनों की थी इस से टैक्स देनदारी का सरोकार नहीं होता है।

इक्विटी म्युचुअल फंड को 1 साल से पहले बेचने पर 15 फीसदी की दर से शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन टैक्स देना होगा। अगर म्युचुअल फंड के जरिए इक्विटी में पैसा नहीं जा रहा है तो केवल आयकर के स्लैब के मुताबिक ही टैक्स देना होगा।

टैक्स गुरू के अनुसार 1 साल से पुराने इक्विटी म्युचुअल फंड पर आयकर नहीं लगेगा।



गिफ्ट टैक्स

सुभाष लखोटिया का कहना है किअगर पत्नी को कोई रकम उपहार के रूप में दी है तो उस रकम पर टैक्स नहीं लगेगा। उपहार से मिली रकम से कोई आय आती है तो टैक्स देना होगा। अगर पत्नी को ये रकम कर्ज के रूप में दी है तो उस राशि पर आपको ब्याज लेना होगा। रकम उपहार में देने से आप टैक्स देनदारी से बच नहीं सकते।



एनएससी/होमलोन पर टैक्स छूट

अगर आपने एनएसई पर होमलोन लिया हुआ है तो आपको होमलोन पर टैक्स छूट मिल सकती है। हालांकि एनएसई से मिलने वाली ब्याज की राशि को आय का हिस्सा माना जाएगा और इस पर टैक्स लगेगा।

टैक्स गुरू के अनुसार अगर आप अपने मकान में रहते हैं तो आप होमलोन पर टैक्स छूट ले सकते हैं और साथ ही आपके भविष्य के लिए एक एसेट भी जुड़ जाएगा।



पीएफ अकाउंट पर टैक्स

सुभाष लखोटिया का कहना है कि अगर 5 साल से पहले पीएफ अकाउंट से पैसे निकाल लेते हैं तो आयकर कानून के शेड्यूल4 नियम 8 के मुताबिक टैक्स देना होगा।



नए पेंशन प्लान में फायदा

टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया के मुताबिक असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों और कारोबारियों को नए पेंशन प्लान में अतिरिक्त सुविधा मिली है। अगर ऐसे व्यक्ति नए पेंशन प्लान में सालाना 1,000 रुपये से 12,000 रुपये डालते हैं तो सरकार इसमें 1000 रुपये अपनी ओर से डालेगी। दूसरे फायदे की बात है कि सरकार का ये योगदान टैक्स मुक्त होगा।



कहां करें छोटी पूंजी का निवेश

हर महीने के 3000 रुपये के छोटे निवेश के लिए टैक्स गुरू का सुझाव है कि 1000 रुपये पीपीएफ में जमा करें। 1000 रुपये इंश्योरेंस में लगाएं और 1,000 रुपये ईएलएसएस में निवेश किए जा सकते हैं। अगर म्चुचुअल फंड में लगाने हैं तो एसआईपी माध्यम से निवेश करें।



वीडियो देखें