Moneycontrol » समाचार » निवेश

पहला कदमः म्युचुअल फंड्स में निवेश के तरीके

प्रकाशित Sat, 12, 2015 पर 13:55  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सबके लिए जरूरी है कि वो जो पैसा कमा रहे हैं उसे बचाएं ही नहीं बढ़ाएं भी। सीएनबीसी-आवाज की फाइनेंशियल लिटरेसी मुहिम पहला कदम में हम चाहते हैं कि देश में हर शख्स आर्थिक सिस्टम से जुड़े इसीलिए सीएनबीसी आवाज ने पहल की है पहला कदम की। इस कार्यक्रम में हम आपको निवेश के तौर तरीके ही नहीं बताते बल्कि आपके जेहन में उठ रहे सवालों के जवाब भी देते हैं। आप हमें लिख सकते हैं फेसबुक पर सीएनबीसी-आवाज़ पर या फिर आप हमारी वेबसाइट www.pehlakadam.in पर भी अपना मेसेज छोड़ सकते हैं। पहला कदम के पिछले 3 एपिसोड में हमने बात की थी म्युचुअल फंड के बारे में। आज हम बात कर रहे हैं कि कैसे म्युचुअल फंड्स में निवेश करें। इनमें निवेश का क्या तरीका है और कैसे इनका चुनाव करें। इसके साथ ही बात करेंगे कि म्युचुअल फंड्स में निवेश करने में आपकी मदद कौन कर सकता है।


म्युचुअल फंड में निवेश के तरीके
1. डिस्ट्रीब्यूटर के जरिए या सीधे निवेश
2. म्युचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश


डिस्ट्रीब्यूटर के जरिए निवेश के फायदे
डिस्ट्रीब्यूटर निवेशक के लिए बेहद मददगार होते हैं और डिस्ट्रीब्यूटर म्युचुअल फंड बेचता है। डिस्ट्रीब्यूटर के पास सारी जानकारी होती है और डिस्ट्रीब्यूटर के पास कई म्युचुअल फंड होते हैं। डिस्ट्रीब्यूटर की मदद के कई फायदे होते हैं।


डिस्ट्रीब्यूटर बनाम एडवाइजर
म्युचुअल फंड में निवेश में डिस्ट्रीब्यूटर की भूमिका ये है कि डिस्ट्रीब्यूटर निवेशक और फंड के बीच एजेंट का काम करता है। एक डिस्ट्रीब्यटर कई म्युचुअल फंड स्कीम बेचता है जिससे निवेशक को सारी जानकारी एक जगह पर मिल जाती है। बाजार में कई डिस्ट्रीब्यूटर हैं तो आप केवल भरोसेमंद डिस्ट्रीब्यूटर का चुनाव करें। कई डिस्ट्रीब्यूटर एडवाइजर होते हैं और कई एडवाइजर डिस्ट्रीब्यूटर होते हैं। निवेशक खुद फैसला भी ले सकता है कि उसे कहां निवेश करना है।


डिस्ट्रीब्यूटर के जरिए निवेश में सावधानी
म्युचुअल फंड निवेश में पूरी तरह डिस्ट्रीब्यूटर पर निर्भर ना रहें और निवेश से पहले कुछ रिसर्च खुद भी करें। कुछ डिस्ट्रीब्यूटर्स में ज्यादा कमीशन वाले फंड बेचने की प्रवृत्ति होती है तो म्युचुअल फंड का चुनाव सावधानी से करना चाहिए। फीस को लेकर डिस्ट्रीब्यूटर से सौदेबाजी जरूर करें। डिस्ट्रीब्यूटर कहता है तो भी जरूरत से ज्यादा स्कीमों में निवेश ना करें।


फाइनेंशियल प्लानर की मदद भी ली जा सकती है
फाइनेंशियल प्लानिंग में डिस्ट्रीब्यूटर भी मदद करते हैं। कई बार डिस्ट्रीब्यूटर और फाइनेंशियल प्लानर एक ही शख्स होता है। कई डिस्ट्रीब्यूटर निवेशक से कोई फीस नहीं लेते और डिस्ट्रीब्यूटर को फंड से कमीशन मिलता है। डिस्ट्रीब्यूटर सलाह के बदले फीस लेते हैं और डिस्ट्रीब्यूटर कागजी खानापूर्ति में मदद करते हैं। डिस्ट्रीब्यूटर जरूरी दस्तावेज जमा करवाते हैं। म्युचुअल फंड की यूनिट्स अलॉट होने के बाद डिस्ट्रीब्यूटर लगातार जानकारी भी देते हैं। रिडंपशन की जानकारी भी डिस्ट्रीब्यूटर देता है और एड्रेस बदलने या बैंक डिटेल बदलने में डिस्ट्रीब्यूटर मदद करते हैं। डिस्ट्रीब्यूटर के यहां एक छत के नीचे ही सारी सेवाएं मिल जाती हैं।


2. म्युचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश भी मुमकिन
म्युचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश के फायदेफंड को लेकर खुद भी रिसर्च करें और हर फंड के रिसर्च ऑनलाइन मौजूद होते हैं। म्युचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश संभव होनो से आपका समय बचता है। म्युचुअल फंड की ऑनलाइन एप्लीकेशन मुमकिन होती है और नेट बैंकिंग या डेबिट कार्ड से पेमेंट संभव होता है।


म्युचुअल फंड में ऑनलाइन निवेश के तरीके
1. ऑनलाइन निवेश डिस्ट्रीब्यूटर के जरिए
2. ऑनलाइन निवेश निवेशक खुद


1. ऑनलाइन निवेश डिस्ट्रीब्यूटर की साइट के जरिए कर सकते हैं और निवेशक सीधे फंड की साइट से निवेश कर सकते हैं। इसके जरिए सीधे निवेश से खर्च बच जाता है लेकिन सीधे निवेश में फंड ज्यादा एनएवी देते हैं। ब्रोकरेज की साइट्स से भी फंड में निवेश मुमकिन होता है। ब्रोकर की साइट पर पहले ही केवाईसी हो चुका होता है। इसलिए दोबारा करने की जरूरत नहीं पड़ती।


ब्रोकर की साइट पर फंड्स से जुड़ा रिसर्च भी आसानी से मिल जाता है और रिटर्न और रिस्क का सारा हिसाब ऑनलाइन मौजूद रहता है। आप रिसर्च के लिए हिंदी मनीकंट्रोल डॉट कॉम की मदद ले सकते हैं। हिंदी मनीकंट्रोल डॉट कॉम पर पोर्टफोलियो बनाएं और 1 कैटेगरी में 3-4 से ज्यादा स्कीम में निवेश ना करें। फंड हाउस की जिस कैटेगरी में महारत हो उसी में निवेश करें।


2. निवेशक खुद डिस्ट्रीब्यूटर की साइट पर जाकर लॉग इन कर सकते हैं। ये साइट ब्रोकर की भी हो सकती है जो निवेशक के इक्विटी निवेश को मैनेज करता हो या ब्रोकर की साइट पर पहले ही केवाईसी हो चुका होता है तो इसलिए दोबारा करने की जरूरत नहीं पड़ती।


वीडियो देखें