Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

लाखों रुपए के सवालों के जवाब !

प्रकाशित Thu, 06, 2010 पर 12:15  |  स्रोत : Hindi.in.com

टीम@ वेल्थ

हिंदुओं के पुराणों में एक ऐसे आदमी की कहानी है, जो एक ज्योतिषी के पास जाता है और एक सवाल करता है। आदमी पूछता है, "केवल एक क्यों?" यह जिंदगी में अवसर खो देने के बारे में है। 

सही सवाल पूछने को ज्यादा महत्व नहीं दिया जाता। खासकर जब ये सवाल मकान खरीदने से जुड़े हों।  

हीरानंदानी समूह के एमडी और संस्थापक सुरेंद्र हीरानंदानी का कहना है कि कम से कम आठ सवाल ऐसे हैं जो (मकान खरीदते वक्त) पूछे जाने चाहिए।

1. मुझे कितने बड़े मकान की जरूरत है?

यह आपकी जरूरत पर निर्भर करता है। अगर आपके परिवार में पांच सदस्य हैं और ज्यादा कमरों की जरूरत है तो अतिरिक्त स्पेस वाला सेकंड होम चुनिए।

अगर आप नौजवान हैं और परिवार में केवल दो सदस्य हैं तो छोटे स्थान से काम चल जाएगा।

एक बार अपनी जरूरत तय करने के बाद बिल्ट अप, कार्पेट एरिया और सुपर बिल्ट अप की तलाश कर लीजिए। कार्पेट एरिया आमतौर पर सुपर बिल्ट अप का 75-85 फीसदी होता है। अगर सुपर बिल्ट अप एरिया 1,000 वर्ग फुट है तो कार्पेट एरिया 750-850 वर्ग फुट होगा। बिल्ट अप का अनुपात पुराने निर्माण का 15 फीसदी और नए निर्माण का 28 फीसदी तक होना चाहिए। सुपर बिल्ट अप 40 फीसदी तक होता है।

2. मेरे लिए सही जगह कितनी होगी?

अपने आप से पूछिए। किसी टाउनशिप में रहना चाहते हैं या आवासीय कांपलेक्स में शोर शराबे से दूर। या एक ऐसे उपनगर में रहना चाहते हैं जहां माल्स, मल्टीप्लेक्स, लक्जरी मकान आदि हों।

खरीदते समय निवेश का पहलू ध्यान रखें। उपनगरो में आपका पैसा वसूल हो जाता है, क्योंकि निवेश पर मूल्यवृद्धि भी अच्छी मिलती है।

3. क्या मुझे पड़ोस लेना चाहिए?

एक बार आप अपना स्थान चुन लें तो पड़ोस का फैसला करें, क्योंकि आपका पड़ोसी ही तय करेगा कि आप कितना चैन से रह पाएंगे। डाक्टरों और क्लिनिक, शापिंग, ट्रांसपोर्ट कनेक्टिविटी, स्कूल और अस्पताल की उपलब्धता भी देख लीजिए।
लोग मनोरंजन के विकल्पों को भी खोजते हैं कि वहां गेम सेंटर, खेल सुविधाएं, शापिंग मॉल, खाने-पीने के अड्डे और रेस्त्रां हैं या नहीं।

4. सुविधाओं (अमेनिटीज) को कितना महत्व दें?

पानी और बिजली की आपूर्ति से शुरू होने वाली बुनियादी सुविधाओं में सड़कें, पार्किंग स्पेस, सुरक्षा और बच्चों के खेलने के स्थान, बगीचे आदि शामिल हैं।

निर्माण की गुणवत्ता को अच्छी तरह जांच लें। उसी बिल्डर के अन्य निर्माण कार्यों की जानकारी लें।

5. क्या यह मेरी जीवनशैली के अनुरूप होगा?

हमारा घर दुनिया में हमें आश्रय देता है। फ्लोरिंग, टाइलिंग, फिटिंग्स और फिक्सचर्स, फैंसी लाइटिंग, फ्रेंच विंडोज मिलकर आपके आश्रय को सुंदर बना सकते हैं।

आपके भवन में लगने वाले जकूजी, स्विमिंग पूल, जिम्नेशियम, क्लबहाउस, जॉगिंग ट्रैक्स से आपकी जीवनशैली में काफी इजाफा होगा।
आपकी जीवनशैली में वे लोग भी शामिल हैं जो आपके आसपास रहते हैं। पड़ोस में आपकी सोच वाले लोग हैं, तो आपका सामाजिक जीवन भी अच्छा रहेगा।

6. मुझे ज्यादा चाहिए तो क्या करूं?

अगर आप सबसे संभ्रांत कांपलेक्स में घर तलाश रहे हैं तो आपको शानदार हरे-भरे, लैंडस्केप गार्डन और सड़कों के किनारे लगे पेड़ चाहिए।
इससे कांपलेक्स सुंदर दिखाई देगा। आजकल रेनवाटर हार्वेस्टिंग और सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट भी लगाए जा रहे हैं। यह देख लें कि इसकी लागत आप वहन कर सकते हैं या नहीं।

7. सुविधाएं तो पूरी हों और फ्लैट छोटा हो तो क्या करें?

छोटे आकार के फ्लैट मुंबई जैसे शहर की सचाई है। अच्छी इंटीरियर डिजाइन के जरिए आप अपना स्पेस बढ़ा सकते हैं। परंपरागत मकानों में खाली जगह काफी छोड़ दी जाती है। फर्नीचर, स्क्रीन, डिवाइडर जैसी चीजों के जरिए काफी जगह को उपयोगी बनाया जा सकता है। बाल्कनी का उपयोग लीजर और स्टोरेज में किया जा सकता है।

8. रीसेल वैल्यू का क्या होगा?

रीसेल में सबसे महत्वपूर्ण बिंदु है उसकी खूबसूरती। सारी सुविधाओं पर गौर तो किया जाएगा लेकिन अच्छा दिखने वाले मकान ऊंची कीमतों पर जल्दी ही बिक जाते हैं।

अगर आप अच्छा दिखने वाला मकान लेते हैं तो आपको ज्यादा पैसा चुकाना होगा। कई बार आपको इंतजार करना पड़ सकता है या कीमत घटानी पड़ सकती है।

अच्छी निर्माण गुणवत्ता और क्षेत्र में बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर से आपकी संपत्ति की कीमत में लगातार इजाफा हो सकता है।

आप चाहें तो केवल एक सवाल पूछ सकते हैं : कौन से क्षेत्र की संपत्ति में तेजी आने वाली है? वहां जाइए और निवेश कर दीजिए।