Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनीः सुलझाएं हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़ी उलझन

प्रकाशित Tue, 23, 2016 पर 19:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हर दिन एक नए विषय के साथ योर मनी आपके लिए लेकर आया है निवेश के सहीं तरीके। जहां पर्सनल फाइनेंस के लिहाज से निवेशक समझ सकें कि उनका पैसा कितना सुरक्षित है। आज जानेगें कि समझे कि इंश्योरेंस से जुड़े भ्रम, और हेल्थ इंश्योरेंस में किन चीजों का ध्यान रखने की जरुरत है। साथ ही जानेगे कि अटल पेंशन योजना कितनी फायदेमंद है। आज हमारे साथ इन सभी सवालों के जवाब देगी फाइनेंशियल प्लानर पूनम रूंगटा।


पूनम रूंगटा का कहना है कि हेल्थ इंश्योरेंस जल्दी लेने से फायदा होता है। छोटी उम्र में लाइफ इंश्योरेंस लेने से फायदा नहीं होता है। कभी भी आर्थिक जिम्मेदारी आने पर ही इंश्योरेंस लेने की सलाह होगी। और अपनी बढ़ती आर्थिक जिम्मेदारियों के साथ इंश्योरेंस भी बढ़ाये। पूनम रूंगटा के मुताबिक अक्सर लोग निवेश को इंश्योरेंस से जोड़कर देखते है। लेकिन निवेश को इंश्योरेंस से अलग रखना चाहिए। निवेश और इंश्योरेंस साथ-साथ कर सकते हैं। यूएलआईपी में निवेश भी और लाइफ इंश्योरेंस के फायदे भी होते है।


कुछ साल पहले तक यूएलआईपी में निवेश खर्चीला था। लेकिन अब यूएलआईपी में निवेश की लागत में कमी आई है। लंबी अवधि में यूएलआईपी और म्यूचुअल फंड की लागत एक जैसी ही होती है। पूनम रूंगटा के अनुसार सेक्शन 80 सी में लाइफ इंश्योरेंस पर टैक्स छूट मिलती है। सिर्फ टैक्स छूट के लिए इंश्योरेंस लेना सही नहीं होता है।


टीपीए यानी थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेटर। इसके तहत ग्राहक, इंश्योरेंस कंपनी और अस्पताल के बीच तालमेल करता है। कंपनी की तरफ से क्लेम का निपटारा किया जाता है। एक टीपीए कई कंपनियों के लिए काम कर सकता है।


सवालः अटल पेंशन योजना में 990 रुपये प्रति माह निवेश किया है।  क्या इस निवेश पर 80-सी के तहत टैक्स छूट मिलेगी।


पूनम रूंगटाः अटल पेंशन योजना के तहत स्कीम प्रीमियम पर टैक्स छूट मिलती है। प्रीमियम पर 80 सीसीडी के तहत टैक्स छूट मिलेगी। स्कीम से मिलने वाली पेंशन पर टैक्स लगेगा।


सवालः 4 लाख का हेल्थ इंश्योरेंस लेना है। कौन सा और कहां से लेना सही होगा, साथ ही हेल्थ इंश्योरेंस लेते वक्त किन बातों पर ध्यान देना जरुरी है।


पूनम रूंगटा: जल्द से जल्द हेल्थ इंश्योरेंस लें और अपनी सेहत की स्थिति देखकर प्लान लेना चाहिए। जनरल इंश्योरेंस कंपनी से ही हेल्थ प्लान लें। प्लान में कौन सी बीमारी शामिल हैं और कौन सी बीमारी शामिल नहीं हैं इन सभी बातों का ध्यान देने की जरुरत है। बिना सब-लिमिट वाला प्लान लें। को-पेमेंट यानी आपको कितना पैसा देना होगा इसका भी ध्यान रखें। हेल्थ इंश्योरेंस में पूरी जिंदगी तक रीन्यू होने वाला प्लान लेना फायदेमंद हो सकता है। कभी भी ना केवल प्रीमियम पर नहीं, बल्कि सर्विस पर ज्यादा जोर देना चाहिए। हेल्थ इंश्योरेंस के लिए अपोलो हेल्थ प्लान, स्टार हेल्थ,  नेशनल इंश्योरेंस कंपनी जैसे कई हेल्थ कंपनियों में प्लान ले सकते है।


वीडियो देखें