Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरुः अपनी सैलरी के ब्रेकअप को समझें

प्रकाशित Sat, 27, 2016 पर 13:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स एक ऐसा शब्द है जिसे सुनते ही आम आदमी ही नहीं जानकार भी घबराने लगते हैं। कारण है कि आयकर कानूनों में इतने सारे पेंच है कि किसी के लिए भी इन्हें समझना टेढ़ी खीर साबित हो सकती है। ऐसे ही मौकों पर टैक्स गुरू अपनी जानकारी और अनुभव का खजाना लेकर आते हैं और करते हैं टैक्स से जुड़ी मुश्किलों को दूर। आज आपके टैक्स से जुड़े मुश्किल सवालों का जवाब देंगे  टैक्सपेयर डॉट कॉम के सुधीर कौशिक की राय।


सुधीर कौशिक का कहना है कि सभी टैक्स छूट क्लेम करने की कोशिश करें और अगर किराए खे घर में रह रहे हैं तो एचआरए का फायदा लें सकते है। परिवार के साथ छुट्टी पर जाएं तो एलटीए क्लेम करें। जिससे 1600 का फायदा ट्रांसपोर्ट अलाउंस में ले सकते है। कंपनी से मिलनेवाले भत्तों के बारे में भी जानकारी लें। कंपनी से कार लीज पर ली जा सकती है तो टैक्स छूट मिलेगी। फूड कूपन के जरिए भी टैक्स बचाया जा सकता है। 80 सी, 80 सीसीडी में निवेश किया है तो टैक्स में छूट मिल सकते है।


सुधीर कौशिक के मुताबिक 2.5 लाख रुपये से कम इनकम पर एफडी के ब्य़ाज पर टीडीएस कटने से बचाया जा सकता है। उसके लिए फार्म 15 जी बैंक में करें और टीडीएस कटने से बचाएं।


सवालः 2014-18 के ब्लॉक की एलटीए फऱवरी 2016 में ली। जून में एलटीए का प्रूफ जमा किया। ऑफिस ने एलटीए की टैक्स छूट देने मना कर दिया है,क्या करें।


सुधीर कौशिकः फऱवरी में छुट्टी पर गए तो जून में एलटीए की छूट नहीं ले सकते है।  जिस वित्त वर्ष मे ट्रैवल किया उसी वर्ष में टैक्स छूट मिलेगी। अगले साल रिटर्न भरते समय टैक्स छूट ले सकते है।


सवालः पत्नी के डीमेंट अकाउंट से एफएंडओ में शेयर मार्केट में निवेश करते हैं। 80 हजार का फायदा हुआ है। क्या इस आमदनी को क्लबिंग माना जाएगा और क्या इनकी पत्नी को रिटर्न भरना चाहिए।


सुधीर कौशिकः पत्नी को दी हुई रकम पर क्लबिंग के नियम लागू होगें। पत्नी की शेयर ट्रेडिंग से आमदनी हुई है तो रिटर्न भरें। साल में हुई आमदनी के हिसाब से टैक्स होगा और फॉर्म आईटीआर -4 के जरिए टैक्स भरें।


वीडियो देखें