Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स की पाठशाला से समझें टैक्स बचाने का तरीका!

प्रकाशित Thu, 08, 2016 पर 18:54  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ज्यादातर लोगों को टैक्स सुनकर ही पसीना आ जाता है। वह इसलिए की हम टैक्स को समझते कम और उसमें उलझते ज्यादा है। सरकार टैक्स तो काटती है लेकिन उसके साथ ही इनकम टैक्स के कई ऐसे नियम है भी है जो आपका टैक्स बचाते भी है। क्या आप इमकम टैक्स के सारे छूट का फायदा उठा रहे है। तो आज टैक्स बचाने की पाठशाला में  बचाते है आपका टैक्स। समझते है टैक्स बचाने का सही रास्ता टैक्स एक्सपर्ट शरद कोहली से।


शरद कोहली का कहना है कि 2.5 लाख रुपये इनकम पर जीरो फीसदी टैक्स जाता है। यानि आपको एक भी पैसे के टैक्स का भुगतान  नहीं करना होता। अगर आपकी इनकम 2.5 लाख रुपये से 5 लाख रुपये तक है तो उसपर 10 फीसदी टैक्स लगता है। वहीं 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक इनकम वालों 20 फीसदी टैक्स लगता है। और 10 लाख से ज्यादा इनकम वालों को 30 फीसदी टैक्स लगता है। 80 साल से ज्यादा आय वाले व्यक्ति को 5 लाख रुपये पर टैक्स की छूट दी गई है।


जिन लोगों की 5 लाख रुपये से कम की आय होने पर सरकार उन्हें छोटे करदाता मानती है। जिन्हें 5 लाख रुपये से कम की आय होने पर 5000 रुपये की विशेष छूट मिलेगी। यह छूट 87 ए के तहत मिलती है। डिडेक्शन के तहत चेपटर 86 दी है। जिसमें सेक्शन 80 के तहत अलग- अलग छूट पा सकते है। 80 (सी), 80 (डी), 80 (ई), 80(ईई), 80 (डीडी), 80 (यू)का फायदा उठा सकते है।


शरद कोहली के मुताबिक 80 (सी) में तहत प्रोविडेंट फंड, पब्लिक प्रोविडेट फंड, लाइफ इंश्योरेंस प्रीमियम पर छूट मिलती है। 80 (सी) में निवेश के तहत नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट , पोस्ट ऑफिस स्कीम में छूट पा सकते है। 80 (सी) मे खास बात यह भी है कि अगर आप कुछ निवेश नहीं भी कर रहे है तो आपको खर्च करने पर भी टैक्स में छूट  मिल जाता है। जिसके तहत आप 2 बच्चों की ट्यूएशन फीस, घर के लिए लोन की मूल रकम (प्रिसिपल अमाउंट) पर टैक्स में छूट पा सकते है। यानि कुल मिलाकर 1.5 लाख रुपये की सालाना छूट पाई जा सकती है।


आप 80 डी के तहत मेडिक्लेम पॉलिसी लेने पर 25000 रुपये की छूट पा सकते है। वहीं बुजुर्गों के लिए 30,000 रुपये की छूट मिलती है। शरद कोहली का कहना है कि सरकार ने नेशनल पेंशन स्कीम यानि एनपीएस में स्कीम की शुरुआत की। इसके अंतर्गत बैंक में अपना खाता खोले। कम से कम महीने दर महीने इसमें 500 रुपये में निवेश करकें। इस स्कीम का फायदा उठा सकते है। इसमें 18-60 साल के लोग स्कीम में निवेश कर सकते है। जिसपर 9-11 फीसदी ब्याज तक मिल सकता है। साथ ही इ स्कीम के तहत किसी भी  आपतकालीन स्थिति में 5 साल बाद रकम निकाल सकते है। एनपीएस पर 80(सीसीडी- 1बी) के तहत 50,000 रुपये की छूट होती है।


नया घर खरीदते वक्त बैंक से लोन लेते है तो उस लोन पर जो ब्याज देते है उस ब्याज का सेक्शन 24 में जिक्र किया गया है। जिसके तहत सालाना 2 लाख रुपये तक के ब्याज पर छूट मिल सकती है। लेकिन यह छूट घर का पजेशन मिलने पर ही मिलती है।