Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

लॉन्ग टर्म कॉन्ट्रैक्ट्स पर फोकस: पीटीसी इंडिया

प्रकाशित Thu, 09, 2017 पर 14:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पीटीसी इंडिया का पूरा नाम पावर ट्रेडिंग कॉरपोरेशन है। साल 1999 में कंपनी का गठन किया गया। पीटीसी एनर्जी और पीटीसी इंडिया फाइनेंशियल पीटीसी इंडिया की सब्सिडियरी हैं।


पीटीसी इंडिया के सीएमडी दीपक अमिताभ ने सीएनबीसी-आवाज़ से बातचीत में कहा कि कंपनी का कोर कारोबार पॉवर ट्रेडिंग है। कंपनी के ट्रेडिंग कारोबार में मजबूती बनी रही है। पिछले 2-3 साल से पावर सेक्टर के लिए जो पॉलीसी आ रही है उससे पवार ट्रेडिंग को और बढ़ावा मिलेगा।


दीपक अमिताभ ने कहा कि अगर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर तुलना करें तो भारत में पावर ट्रेडिंग बिजनेस का वॉल्यूम कम है यहां पावर ट्रेडिंग के लिए अभी भी बहुत व्यापक संभावनाएं हैं। अगले 2-3 सालों में कंपनी के ट्रेडिंग कारोबार में काफी बढ़त देखने को मिलेगी।


दीपक अमिताभ ने बताया कि कंपनी के कारोबार में लॉन्ग और मीडियम टर्म कॉन्ट्रैक्ट्स की हिस्सेदारी 40-45 फीसदी है जबकि शॉर्ट टर्म कॉन्ट्रैक्ट्स की हिस्सेदारी 55-60 फीसदी के बीच रहती है। शॉर्ट टर्म कॉन्ट्रैक्ट्स में काफी घट-बढ़ होती रहती है, इसके साथ ही इसमें मार्जिन भी कम रहता है जिसको ध्यान में रखकर पीटीसी इंडिया लॉन्ग टर्म कॉन्ट्रैक्ट्स पर फोकस कर रही है।