Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

रेलवे को मिली किराया बढ़ाने की एक और वजह

प्रकाशित Fri, 10, 2017 पर 16:54  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हो सकता है आने वाले दिनों में आपको ज्यादा रेल किराया चुकाना पड़े। दरअसल, सीएजी ने संसद में रेलवे पर रिपोर्ट पेश की है। रेलवे को घाटे से उबारने के लिए सीएजी ने इस रिपोर्ट में साफ कहा है कि अगर पैसेंजर और दूसरे कोचिंग टैरिफ जैसे कि ट्रेनों में यात्री किराए को लागत के मुताबिक वसूल किया जाना चाहिए।

संसद में सीएजी ने जो रेलवे से जुड़ी अपनी रिपोर्ट पेश की है उसमें मुख्य तौर पर उन कारणों को जागर किया है जो रेलवे की कमजोर हालात के लिए जिम्मेदार है। सीएजी की रिपोर्ट में कहा है जो लोकल ट्रेनों में खास कर रियायती टिकटों को लेकर जो घाटा हो रहा है उसे कम करने की जरुरत है। इसके अलावा सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में यात्री किराए को लागत के मुताबिक लेने की सिफारिश की है। वहीं कोचिंग टैरिफ में भी सुधार की गुंजाइश बताई है।


सीएजी का मानना है कि रेलवे स्टाफ की प्रोडक्टिविटी सुधारने पर जोर दिया जाना चाहिए। सीएजी ने ये भी कहा कि पिछले कुछ वर्षों से प्रोडक्टिविटी घटी है और कई जोनल रेलवे में आय से अधिक खर्च हो रहा है। आय से अधिक खर्च पिछले 5 साल में 100 फीसदी से ज्यादा है। सीएजी ने एलआईसी के 1.5 लाख करोड़ रुपये के सही उस्तेमाल की नसीहत दी है।