Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

एफआईआई का बढ़ेगा भरोसा, कहां रखें नजर

प्रकाशित Tue, 14, 2017 पर 11:19  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार की आगे की चाल और दिशा पर बात करते हुए मोतीलाल ओसवाल सिक्योरिटीज में इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के एमडी और सीईओ रजत राजगढ़िया का कहना है कि बाजार में घरेलू संस्थागत निवेशकों का पैसा लगाना चालू रहेगा। वहीं बीजेपी की जोरदार जीत एफआईआई को एक बार फिर से भारत में पैसे लगाने के लिए प्रेरित कर सकता है। एफआईआई किसी इकोनॉमी के मैक्रो फैक्टर्स को देखकर पैसे डालते हैं। बीजेपी की शानदार जीत भारत में अगले कुछ सालों तक राजनैतिक स्थिरता का जोरदार संकेत है जिसके चलते एफआईआई फिर भारतीय बाजारों की ओर वापस आ सकते हैं।


रजत राजगढ़िया का कहना है कि निवेशकों का भारत पर नजरिया अब ज्यादा पॉजिटिव होगा। जीएसटी इस साल लागू होने की पूरी उम्मीद है। उन्होंने आगे कहा कि बाजार के लिए बैंकिंग सेक्टर के रिफार्म काफी अहम हैं। बैंकिंग सेक्टर में एनपीए की दिक्कत दूर होनी जरूरी है।


रजत राजगढ़िया की राय है कि इस समय आपको ऐसे सेक्टर के शेयरों में पैसे लगाने की सलाह होगी जहां भारत की ग्रोथ स्टोरी मजबूत रहने की संभावना है। रजत राजगढ़िया के मुताबिक प्राइवेट सेक्टर बैंक, ऑटो, एनबीएफसी और कनजंप्शन सेक्टर में हमें आगे अच्छी मजबूती देखने को मिलेगी।


रजत राजगढ़िया ने कहा कि पिछले एक साल में बाजार में कई नई कंपनियां लिस्ट हुई हैं जो बाजार को निवेश के लिए काफी व्यापक बना रही हैं। इन नई लिस्टेड कंपनियों में एक्सचेंज, स्टॉफिंग कंपनियों के साथ ही डी-मार्ट जैसे आईपीओ शामिल हैं जिनमें लंबे नजरिए से निवेश करके अच्छे पैसे बनाए जा सकते हैं। इसके आलावा बाजार में कुछ ऐसे शेयर भी हैं जिनमें हमें समय-समय पर रिलायंस जैसा बाउंस बैक देखने को मिलेगा। रजत राजगढ़िया की राय है कि इस बाजार में पैसे तो चुनिंदा शेयरों में ही बनेंगे जिनपर आपको नजर रखनी होगी।