Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

भगवान भरोसे दिल्ली वालों की सेहत!

प्रकाशित Wed, 15, 2017 पर 16:44  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

दिल्ली में आप बाहर खाना खाते हैं तो आपकी सेहत भगवान भरोसे है क्योंकि दिल्ली सरकार आपकी सेहत की गारंटी नहीं ले सकती। जिस विभाग को दिल्ली में खाने-पीने के सामान की गुणवत्ता पर नजर रखने की जिम्मेदारी मिली है उसने 2015-16 में इसकी जांच करने की जहमत ही नहीं उठाई।


अपनी चटोर गलियों के लिए मशहूर दिल्ली, देश की राजधानी दिल्ली। लेकिन जिन फूड ज्वाइंट्स पर दिल्ली के दिल वाले दिल खोलकर खाते हैं वो सेफ हैं या नहीं ये मालूम नहीं! जी हां यकीन करना मुश्किल है लेकिन सीएजी के मुताबिक देश की राजधानी के 97 फीसदी खाने-पीने की दुकानों की जांच ही नहीं हुई।


लापहरवाही का आलम देखिए कि पूरी राजधानी में हर दिन सिर्फ 4 फूड सैंपल जांच के लिए उठाए जाते हैं। सीएजी के मुताबिक दिल्ली के स्कूलों में मिड-डे मील और आंगनवाड़ी केन्द्रों में किस तरह का खाना मिल रहा है इस पर भी दिल्ली खाद्य विभाग ने अब तक नजर नहीं डाली है। राजधानी में कितने फूड बिजनेस काम कर रहे हैं इसका लेखा जोखा भी फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट के पास नहीं है।


दिल्ली फूड डिपार्टमेंट फूड इंस्पेक्टर्स की कमी का रोना रो रही है। उसका कहना है कि उसके पास इतने लोग नहीं हैं जो हर रेस्टोरेंट पर जा कर खाने की जांच करें। मगर इसका खामियजा आम जनता को उठाना पड़ रहा है। दिल्ली में करीब 5 लाख फूड ज्वाइंट्स हैं। और इनके लिए फूड इंस्पेक्टर तैनात हैं महज 6, यानी 83,000 ज्वायंट्स के लिए सिर्फ 1 फूड इंस्पेक्टर। फूड सेफ्टी डिपार्टमेंट में 32 फूड इंस्पेक्टर्स की वैकेंसी है, मगर पिछले 3 साल से कोई नियुक्ति नहीं है।