Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

इलेक्शन रेवेन्यू से मिला फायदा: जागरण प्रकाशन

प्रकाशित Fri, 17, 2017 पर 14:12  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जागरण प्रकाशन भारत का प्रमुख मीडिया ग्रुप है जो प्रिंट, रेडियो और डिजिटल मीडिया में काम करता है। ये ग्रुप दैनिक जागरण, मिड डे और नई दुनिया अखबरों का प्रकाशन करता है। प्रिंट विज्ञापन मार्केट में जागरण प्रकाशन की 7.3 फीसदी हिस्सेदारी है। जागरण प्रकाशन की सब्सिडियरी कंपनी म्यूजिक ब्रॉडकास्ट के शेयर आज बाजार में लिस्ट हुए हैं। म्यूजिक ब्रॉडकॉस्ट रेडियो सिटी 91.1 एफएम चलाती है, कंपनी के सभी अखबार डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी मौजूद हैं। अखबरों की पाठक संख्या में उत्तरप्रदेश की 50 फीसदी हिस्सेदारी है। कंपनी के 4.74 फीसदी शेयर 195 रुपये प्रतिशेयर के भाव बायबैक करने की भी योजना है जिसके लिए मंजूरी भी मिल गई है। दिसंबर के बाद कंपनी के शेयर में 15 फीसदी का उछाल देखने को मिला है।


जागरण प्रकाशन के सीएफओ आर के अग्रवाल ने सीएनबीसी-आवाज़ के साथ बातचीत करते हुए कहा कि म्यूजिक ब्रॉडकास्ट के शेयर की लिस्टिंग उम्मीद के मुताबिक ही अच्छी रही है। जागरण ग्रुप ने म्यूजिक ब्रॉडकास्ट को 110 करोड़ रुपये दे रखें हैं जिसका भुगतान म्यूजिक ब्रॉडकास्ट, जागरण ग्रुप को इस आईपीओ से मिले पैसे से कर देगा।


आर के अग्रवाल ने कहा कि नोटबंदी का असर पूरे मीडिया, एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री पर पड़ा है। इस इंडस्ट्री का हिस्सा होने की वजह से जागरण प्रकाशन भी इस असर से अछूता नहीं है। उम्मीद है कि 1-2 महीने में स्थितियां सामान्य हो जाएंगी और ग्रोथ लौट आएगी।


आर के अग्रवाल ने बताया कि हाल में ही हुए विधानसभा चुनाओं के दौरान मिले चुनावी विज्ञापनों से हुआ आय की वजह से नोटबंदी के नुकसान की भरपाई संभव हो पाई है। अगर विधानसभा चुनाव नहीं पड़े होते तो कंपनी के कारोबार में नोटबंदी की मार की वजह गिरावट देखने को मिलती।