Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जेब काटते बैंक, सर्विस के नाम पर हो रही मनमानी

प्रकाशित Mon, 20, 2017 पर 18:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सर्विस के नाम पर बैंक मनमानी कर रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में लगभग सभी बड़े बैंकों ने ग्राहकों पर या तो नए चार्ज का बोझ डाला है या पुरानी चार्ज वापस लाए हैं। मसलन मिनिमम बैलेंस, कैश ट्रांजैक्शन चार्ज, एटीएम चार्ज कुछ ऐसे मुद्दे है जिनको लेकर ग्राहकों में काफी गुस्सा है। सरकार भी बैंकों को नसीहत दे चुकी है लेकिन बैंकों के कान में जूं तक नहीं रेंग रही।


सर्विस के नाम पर बैंक कैश पर चार्ज वसूल रहे हैं और अब इसके खिलाफ उपभोक्ता मामलों के मंत्रालयों को बैंक धारकों की और से काफी शिकायतें मिल रही हैं। जिसके बाद अब मंत्रालय एक्शन के मोड में नजर आ रही हैं। सीएनबीसी-आवाज को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक उपभोक्ता मंत्रालय जल्द ही आरबीआई  को एक रिपोर्ट भेजने वाला है।


बता दें कि मंत्रालय ने यह चार्ज रिपोर्ट लोगों के सुझाव, शिकायत और आरटीआई के आधार पर बनाई हैं और रिपोर्ट में मनमाने चार्ज पर नाराजगी भी जाहिर की है।


उपभोक्ता मामलों के मंत्रालयों द्वारा रिपोर्ट की खास बात यह कि रिपोर्ट में डेबिट कार्ड पेमेंट पर चार्ज अनफेयर ट्रेड प्रैक्टिस, मेसेजिंग, एटीएम पर चार्ज भी अनफेयर ट्रेड प्रैक्टिस लेने का जिक्र किया है। साथ ही मंत्रालय़ ने इसपर आरबीआई से अपने अधिकार के तहत दखल की मांग करते हुए बैंकों को आरबीआई के गाइडलाइंन के मुताबिक चलने की हिदायत दी हैं।