आवाज अड्डाः यूपी में योगीराज, 2019 के चुनाव पर मिली कमान! -
Moneycontrol » समाचार » राजनीति

आवाज अड्डाः यूपी में योगीराज, 2019 के चुनाव पर मिली कमान!

प्रकाशित Mon, 20, 2017 पर 20:56  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मुख्यमंत्री पद संभालने के बाद कामकाज के पहले दिन आदित्यनाथ योगी ने उत्तर प्रदेश के आला अफसरों से मुलाकात की। खबरों के मुताबिक राज्य में बूचड़खानों को बंद करना और किसान कर्ज माफी की योजना बनाना उनकी प्राथमिकता रही। साथ ही उन्होंने आला अफसरों को निष्ठा से काम करने की शपथ दिलाई है। अफसरों से संपत्ति का ब्योरा मांगा गया है। साथ ही लॉ एंड ऑर्डर ठीक करने के लिए डीजीपी जावीद अहमद से 15 दिन में ब्लू प्रिंट देने को कहा गया है। मुख्यमंत्री घोषित हो जाने के बाद आदित्यनाथ योगी ने अपनी पहली प्रेस कॉंफ्रेंस में कहा कि वो यूपी में सबके विकास के लिए काम करेंगे और अपने मंत्रियों को विवादित बयानों से बचने की नसीहत भी दे दी। तो पहले 48 घंटों में कम से कम मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ गोरखपुर के सांसद और मठ के महंत योगी आदित्यनाथ से अलग-अलग लग रहे है।


उत्तर प्रदेश के नए सीएम आदित्यनाथ योगी ने यूपी के सभी वरिष्ठ अधिकारियों से 15 दिन के भीतर अपनी चल, अचल संपत्ति और इनकम टैक्स का ब्योरा देने के लिए कहा है। इससे पहले योगी ने मंत्रिमंडल में शामिल सभी मंत्रियों से चल-अचल संपत्ति का हिसाब मांगा। आज लखनऊ में हुई बैठक में अधिकारियों को कर्तव्यनिष्ठा, ईमानदारी और स्वच्छता की शपथ दिलाई। सीएम और डिप्टी सीएम ने आज पुलिस अफसरों से भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बात की और कानून-व्यवस्था को ठीक करने के निर्देश दिए। इतना ही नहीं अवैध बूचड़खाने बंद किए जाने का निर्देश देते हुए इलाहाबाद में दो बूचड़खाने भी बंद कराये।


कानून व्यवस्था पर विकास के मुद्दे पर जीत हासिल करने वाली बीजेपी सरकार में बने सीएम ने कानून व्यवस्था पर सख्ती दिखाते हुए पुलिस को कानून व्यवस्था ठीक करने के सख्त निर्देश दे दिया।


बीजेपी ने यूपी चुनाव में किसानों का कर्ज माफ करने सहित छेड़छाड़ रोकने के लिए एंटी रोमियो दल बनाये जाने का वादा किया हैं। वहीं  पुलिस के डेढ़ लाख खाली पदों पर जल्द ही नियुक्ति करने की बात कहीं हैं। साथ ही यूपी में 45 दिन में सभी अपराधियों को जेल में बंद करने और अखिलेश सरकार के 100 नंबर की सेवा को और मजबूत करने का वादा यूपी की जनता से किया हैं। खनन माफिया के खिलाफ टास्क फोर्स बना अवैध खनन पूरी तरह बंद करने का वादा किया है।


सवाल है कि क्या मुख्यमंत्री के रूप में विवादित बोल के लिए प्रसिद्ध योगी बदले नजर आएंगे। क्या वो सब का साथ, सब का विकास का वादा डिलेवर कर पाएंगे और उनके चयन के पीछे क्या बीजेपी का मिशन 2019 यानि अगले आम चुनाव की तैयारी की कहानी छिपी हुई है।