Moneycontrol » समाचार » निवेश

ईपीएफ या एनपीएस, कहां ज्यादा टैक्स छूट

प्रकाशित Sat, 15, 2017 पर 12:12  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आपकी मेहनत की कमाई आपको कमा कर दें इस के लिए आपके पास वित्तीय अनुशासन होना जरूरी है और ये सिर्फ हर महिने निवेश करने से नही आएगा। वित्तीय रूप रेखा में हो रहे बदलावों के समझने और उन पर अमल करने से आप अपनी पर्सनल फाइनेंस की प्लानिंग में महारत हासिस कर सकते हैं। योर मनी पर हम कई खबरों पर विस्तार से बात करेंगें। सबसे पहले ईपीएफ का पैसा कैसे एनपीएस में ट्रांसफर किया जाए और क्या ये करना सही है। क्या है इस ट्रांसफर की नई गाइडलाइन। इन सब पर च्रचा करने के लिए हमारे साथ है फाइनेंशियल प्लानर गौरव मशरूवाला।


गौरतलब है कि नेशनल पेंशन स्कीम यानि (एनपीएस) रिटायरमेंट के लिए निवेश का अच्छा विकल्प है। पहले यह स्कीम केवल सरकारी कमर्चारियों के लिए आई थी लेकिन अब कोई भी निवेशक स्कीम में निवेश कर सकता है। एनपीएस में निवेश करने के लिए सबसे पहले उसमें अकाउंट खोलना होगा। टियर-1 अकाउंट से आप पैसे निकाल नहीं सकते हैं।


एनपीएस से कहां होता है निवेश
गौरव मशरूवाला का कहना है कि एनपीएस से इक्विटी, बॉन्ड और सरकारी सिक्योरिटीज में निवेश होता है। इक्विटी में ज्यादा से ज्यादा 50 फीसदी निवेश का विकल्प होता है। 35 साल की उम्र तक इक्विटी में निवेश के दो और विकल्प भी मौजूद है और 35 साल की उम्र तक इक्विटी में 75 फीसदी या 25 फीसदी निवेश के विकल्प होते है।


एनपीएस निवेश पर टैक्स
एनपीएस निवेश पर लगने वाले टैक्स पर बात करते हुए गौरव मशरूवाला का कहना है कि इस स्कीम के तहत स्कीम से निकाले गए 40 फीसदी पैसे पर कोई टैक्स नहीं लगता है। एनपीएस में निवेश पर 50,000 की अतिरिक्त टैक्स छूट मिलती है।


ईपीएफ से एनपीएस में कैसे करें ट्रांसफर
एनपीएस टीयर-1 अकाउंट खोलें और ईपीएफ ट्रांसफर के लिए अर्जी दें।  तब ईपीएफओ कंपनी को फंड ट्रांसफर करने को कहेगा। एनपीएस में पीओपी के जरिए फंड ट्रांसफर हो जाएगा।


क्या ईपीएफ से एनपीएस में निवेश सही है?
गौरव मशरूवाला के अनुसार एनपीएस में निवेश रिटायरमेंट में कितना समय बाकी है इस पर निर्भर होता है। ईपीएफ में पूरी तरह टैक्स छूट मिलती है। वहीं एनपीएस में 80सी और 80सीसीडी के तहत टैक्स छूट मिलती है। ईपीएफ में सिर्फ 80सी के तहत टैक्स छूट मिलती है।


रिटायरमेंट प्लानिंग
रिटायरमेंट के लिए एनपीएस और ईपीएफ इन दोनों में निवेश करने की सलाह होगी। एनपीएस में इक्विटी निवेश ज्यादा करें, डेट में कम करें और डेट के लिए ईपीएफ चुनें।


सवालः एनईएफटी क्या है और इससे पैसे का लेनदेन कैसे होता है?


गौरव मशरूवालाः एनईएफटी यानि नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर कहलता है। इसके जरिए देशभर में पैसों के लेन-देन की प्रक्रिया की जा सकती है। एनईएफटी के जरिए बैंक से किसी के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करना और ऑनलाइन फंड ट्रांसफर भी कर सकते है। इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग के जरिए एनईएफटी कर सकते हैं। एनईएफटी से पैसे लेन-देन के लिए कोई न्यूनतम राशि नहीं होती है और इसके जरिए पैसे जल्दी ट्रांसफर होते हैं।  सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे तक पैसों का लेनदेन मुमकिन होता है।


सवालः इस महीने 25 लाख रुपये का निवेश करना है, कौन से फंड में निवेश करें?


गौरव मशरूवालाः आर्थिक लक्ष्यों के हिसाब से निवेश करें हालांकि  लिक्विडिटी, नियमित आय और ग्रोथ को ध्यान में रखकर निवेश करने की सलाह होगी।