Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

महंगे वैल्युएशन से चिंता, इन शेयरों में क्या करें

प्रकाशित Mon, 17, 2017 पर 13:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार की नई ऊंचाई के साथ-साथ शेयरों के दाम भी बढ़े हैं और ऐसे में बहुत सी ऐसी मिडकैप कंपनियां हैं जिनके फंडामेंटल्स तो अच्छे हैं लेकिन वैल्युएशन काफी महंगे हो चुके हैं। 29 जनवरी 2015 को सेंसेक्स का पीई 20.13 गुना पर था, जो 8 सितंबर 2016 को 21.45 गुना पर पहुंच गया और सेंसेक्स का मौजूदा पीई 22.62 गुना पर है।


बीएसई में 81 शेयर 50 गुना से ज्यादा के पीई रेश्यो पर हैं। 20 शेयरों के पीई रेश्यो 100 गुना से 640 गुना पर पहुंच गए हैं। 3 शेयर 1000 गुना से ज्यादा के पीई रेश्यो पर हैं। बीएसई मिडकैप इंडेक्स 30.7 गुना के पीई रेश्यो पर कारोबार कर रहा है।


इंडियन होटल्स का पीई 268 गुना पर है, जबकि वित्त वर्ष 2018 का पीई 83 गुना रहने का अनुमान है। मैक्स फाइनेंशियल का पीई 116 गुना पर है, जबकि वित्त वर्ष 2018 का पीई 93 गुना रहने का अनुमान है। बीईएमएल का पीई 109 गुना पर है, जबकि वित्त वर्ष 2018 का पीई 26 गुना रहने का अनुमान है।


यूनाइटेड स्पिरिट्स का पीई 99 गुना पर है, जबकि वित्त वर्ष 2018 का पीई 41 गुना रहने का अनुमान है। ट्रेंट का पीई 91 गुना पर है, जबकि वित्त वर्ष 2018 का पीई 40 गुना रहने का अनुमान है। एबीबी का पीई 82 गुना पर है, जबकि वित्त वर्ष 2018 का पीई 56 गुना रहने का अनुमान है।


अब इन शेयरों में क्या किया जाए, इस पर ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के संदीप जैन का कहना है कि हाई पीई वाले शेयर खराब हैं ऐसा जरूर नहीं है, लेकिन ऐसी कंपनियों की ग्रोथ पर ध्यान देना जरूरी है। साथ ही कंपनी किस सेक्टर से है इस बात पर भी फोकस रखना जरूरी है। हालांकि ज्यादा पीई वाले शेयरों में निवेश करने की सलाह नहीं होगी। मिडकैप और स्मॉलकैप में 10-15 गुना पीई वाले शेयरों में ही पैसा लगाने चाहिए। वहीं लार्जकैप में 15-20 गुना पीई वाले शेयरों में निवेश किया जा सकता है।


संदीप जैन के मुताबिक भले ही इंडियन होटल्स का वैल्युएशन महंगा है, लेकिन कंपनी की ग्रोथ को देखते हुए इसमें बने रहने की सलाह होगी। हालांकि मैक्स फाइनेंशियल का वैल्युएशन काफी महंगा लग रहा है और इस शेयर से ज्यादा की ग्रोथ की उम्मीद नहीं लग रही है।