Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

भारतीय कंपनियों पर बुलिश हुए एफआईआई

प्रकाशित Wed, 19, 2017 पर 13:23  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पिछले कुछ महीनों की तेजी में घरेलू निवेशकों ने बाजार में जमकर पैसा लगाया है लेकिन विदेशी निवेशक भी अच्छी कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी बढ़ा रहे हैं। एफआईआई की होल्डिंग के आंकड़े बता रहे हैं कि मार्च तिमाही में भारतीय कंपनियों में एफआईआई ने अपनी हिस्सेदारी बढ़ाई है।


आंकड़ों पर नजर डालें तो दिसंबर 2016 में कोटक महिंद्रा बैंक में एफआईआई की होल्डिंग 36.84 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 38.56 फीसदी हो गई है जबकि दिसंबर 2016 में एचडीएफसी बैंक में एफआईआई की होल्डिंग 31.95 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 34.35 फीसदी हो गई है। इसी तरह दिसंबर 2016 में यस बैंक में एफआईआई की होल्डिंग 42.02 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 46.65 फीसदी हो गई है। वहीं दिसंबर 2016 में जेके बैंक में एफआईआई की होल्डिंग 14.55 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 17.69 फीसदी हो गई है।


नॉन-बैंकिंग सेक्टर पर नजर डालें तो दिसंबर 2016 में अशोक लेलैंड में एफआईआई की होल्डिंग 11.93 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 20.42 फीसदी हो गई है। दिसंबर 2016 में एचडीआईएल में एफआईआई की होल्डिंग 42.64 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 44.86 फीसदी हो गई है। वहीं दिसंबर 2016 में हिंडाल्को में एफआईआई की होल्डिंग 25.48 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 28.48 फीसदी हो गई है। दिसंबर 2016 में जे कुमार इंफ्रा में एफआईआई की होल्डिंग 22.39 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 24.4 फीसदी हो गई है।


इसी तरह दिसंबर 2016 में अल्ट्राटेक में एफआईआई की होल्डिंग 20.83 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 21.87 फीसदी हो गई है। वहीं दिसंबर 2016 में डीएलएफ में एफआईआई की होल्डिंग 17.38 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 18.15 फीसदी हो गई है। दिसंबर 2016 में सेंचुरी प्लाई में एफआईआई की होल्डिंग 10.40 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 12.80 फीसदी हो गई है। वहीं दिसंबर 2016 में टाटा एलेक्सी में एफआईआई की होल्डिंग 8.05 फीसदी थी जो मार्च 2017 में बढ़कर 8.96 फीसदी हो गई है।