Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

मेरा घर मेरा हक, क्या होगा बिल्डरों पर एक्शन!

प्रकाशित Thu, 11, 2017 पर 18:31  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

घर एक सपना है जिसे हासिल करने के लिए इंसान पैसा-पैसा जोड़ता है, लेकिन उसके बाद भी हाथ लगे एक आधा-अधूरा मकान, जिसमें ना बिजली-पानी, साफ-सफाई की सुविधा ना हो, सुरक्षा दाव पर रहे तो आदमी क्या करें। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में इसी तरह ठगे गए घर खरीदारों से मिलने पहुंचे यूपी के इंडस्ट्री मंत्री सतीश महाना। उन्होंने बिल्डरों और घर खरीदारों से बात की और आश्वासन भी दिए, मगर क्या ये आश्वासन सच साबित होगा।


आज नोएडा और ग्रेटर नोएडा के घर खरीदारों ने यूपी के इंडस्ट्री मंत्री सतीश महाना से मुलाकात की। हालांकि मंत्री ने सिर्फ चुने हुए 20 खरीदारों से ही बात की, लेकिन उन्होंने भरोसा दिलाया है कि आधे-अधूरे घर देने वाले बिल्डरों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिसके बाद घर खरीदारों और बिल्डरों से मंत्री सतीश महाना ने मुलाकात की।


मंत्री सतीश महाना ने 24 मई तक सभी बिल्डरों को ब्यौरा देने को कहा है। साथ ही घर खरीदारों को हर 2 महीने में ऐसी ही बैठक का आश्वासन भी दिया। बैठक के बाद बिल्डरों का कहना है कि वह सारे नियम कानून मानेंगे और खरीदार के किए गए एग्रीमेंट को भी पूरा करेंगे।


गौरतलब है कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में घर खरीदारों से धोखा हुआ है। बिल्डरों ने घर खरीदारों को पजेशन देरी से दी और जिन घर खरीदारों को उनका घर मिला भी उन्हें आधा-अधूरा घर दिया गया है जिसकी शिकायत घर खरीदारों ने पहले भी की थी। इतना ही घर खऱीदारों को यह भी शिकायत है कि बिल्डरों ने उन्हें जो घर दिए है उसमें सुविधाएं नदारद है और निर्माण भी घटिया स्तर पर किया गया है। 


आज की बैठक में जेपी, आम्रपाली, यूनिटेक, 3सी और सुपरटेक बिल्डर ने तलब की।