Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

यस बैंक: एनपीए के आंकड़ों पर सवाल

प्रकाशित Fri, 12, 2017 पर 13:51  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

यस बैंक के ग्रॉस एनपीए के आंकड़ों पर सवाल उठ रहे हैं। बैंक की सालाना रिपोर्ट में बताए गए ग्रॉस एनपीए के आंकड़े रिजर्व बैंक के आकलन से काफी कम हैं। मार्च 2016 तक यस बैंक के ग्रॉस एनपीए 749 करोड़ रुपये रहे हैं, जबकि आरबीआई का मार्च 2016 तक 4926 करोड़ रुपये के ग्रॉस एनपीए का अनुमान है। मार्च 2016 तक यस बैंक के नेट एनपीए 284 करोड़ रुपये रहे हैं, जबकि आरबीआई का मार्च 2016 तक 3603 करोड़ रुपये के नेट एनपीए का अनुमान है।


इस तरह आरबीआई और यस बैंक के ग्रॉस एनपीए का अंतर 4177 करोड़ रुपये है, तो आरबीआई और यस बैंक के नेट एनपीए का अंतर 3319 करोड़ रुपये है। साफ जाहिर हो रहा है कि आरबीआई के आकलन से यस बैंक नए अलग एनपीए घोषित किए हैं।


एनपीए पर उठे सवालों को लेकर यस बैंक ने सफाई पेश की है। बैंक का कहना है कि उसकी रिपोर्ट में दिखाए गए एनपीए आरबीआई के 18 अप्रैल 2017 को जारी सर्कुलर के मुताबिक हैं। दरअसल, वित्त वर्ष 2016-17 में एनपीए में काफी कमी आई है, साथ ही इसका कुछ हिस्सा एआरसी को बेचा गया। यही नहीं खातों में सुधार होने से भी एनपीए कम करने में मदद मिली है। 31 मार्च तक कुल ग्रॉस एनपीए 1039 करोड़ रुपये रहा। इस आंकड़े में एक कर्जदार का 911 करोड़ रुपये का कर्ज भी शामिल है जिसे जल्द ही वसूल लिया जाएगा।