Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

आगे बेहतर ग्रोथ का भरोसाः पिडिलाइट इंडस्ट्रीज

प्रकाशित Fri, 19, 2017 पर 14:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में पिडिलाइट इंडस्ट्रीज का मुनाफा 7 फीसदी घटकर 157.2 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में पिडिलाइट इंडस्ट्रीज का मुनाफा 169.1 करोड़ रुपये रहा था। वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में पिडिलाइट इंडस्ट्रीज की आय 6.8 फीसदी बढ़कर 1404.3 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में पिडिलाइट इंडस्ट्रीज की आय 1314.8 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में पिडिलाइट इंडस्ट्रीज का एबिटडा 238.2 करोड़ रुपये से बढ़कर 257.8 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर जनवरी-मार्च तिमाही में पिडिलाइट इंडस्ट्रीज का एबिटडा मार्जिन 19.3 फीसदी से बढ़कर 19.9 फीसदी रहा है।


कंपनी के नतीजों पर सीएनबीसी-आवाज़ से बात करते हुए पिडिलाइट इंडस्ट्रीज के ईडी, अपूर्व पारेख ने कहा कि कंज्यूमर और बाजार प्रोडक्ट में वॉल्यूम ग्रोथ 8 फीसदी रही है, जबकि इंडस्ट्रियल प्रोडक्ट में वॉल्यूम ग्रोथ 5 फीसदी रही है। नोटबंदी के झटके बाद अब हालात सामान्य हो गए हैं और आगे जाकर स्थिति में ज्यादा सुधार की उम्मीद है।


अपूर्व पारेख के मुताबिक कच्चे माल के दाम में बढ़ोतरी के चलते ग्रॉस मार्जिन पर दबाव देखने को मिला है। कंज्यूमर और बाजार प्रोडक्ट में 15 फीसदी की ग्रोथ रेट हासिल करने के हरसंभव प्रयास जारी हैं, लेकिन ये कब तक हासिल होगा अभी कहना मुश्किल है। अगर बेहतर मौका नजर आएगा तो अधिग्रहण की योजना पर विचार किया जा सकता है। वहीं अपूर्व पारेख ने कहा कि जीएसटी से खपत बढ़ेगी और संगठित क्षेत्रों की बाजार हिस्सेदारी में बढ़ोतरी होगी, इससे पिडिलाइट इंडस्ट्रीज को फायदा होने की उम्मीद है।