Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

मॉनसून में करेंगे ऐसा कमाल, इन शेयरों से होगी पैसों की बारिश

प्रकाशित Fri, 02, 2017 पर 13:11  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मॉनसून के आगमन से बाजार पहुंच चुका है लाइफ टाइम हाई पर, ऐसे बाजार में कौनसे शेयरों में अब भी है निवेश का मौका। हम आपको बताएंगे ऐसे 9 शेयर जो इस साल बरसेंगे धन। हमारे एक्सपर्ट्स से जानेंगे वो मॉनसून पिक्स जो कराएंगे कमाई की बारिश। हमारे साथ हैं एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वी के शर्मा, ट्रेडबुल्स के राजेन शाह और सेठी फिनमार्ट के विकास सेठी।



ट्रेडबुल्स के राजेन शाह के पसंदीदा शेयर


राजेन शाह को ईपीसी इंडस्ट्री काफी पसंद है। राजेन शाह के मुताबिक 5 साल में माइक्रो इरिगेशन मार्केट में 18 फीसदी ग्रोथ की उम्मीद है। सरकार का किसानों की आय दोगुनी करने पर फोकस है। साथ ही ईपीसी इंडस्ट्री को कृषि सेक्टर के लिए सरकार की नीतियों का फायदा मिलेगा। इसके अलावा ईपीसी इंडस्ट्री में प्रोमोटर महिंद्रा ग्रुप की 55 फीसदी हिस्सेदारी है। राजेन शाह ने ईपीसी इंडस्ट्री पर 3 साल के लिए 500 रुपये का लक्ष्य दिया है।


राजेन शाह ने महिंद्रा हॉलिडेज में निवेश करने की सलाह दी है। राजेन शाह के मुताबिक महिंद्रा हॉलिडेज का वैल्युएशन दूसरे होटल शेयरों के मुकाबले सस्ता है। कंपनी की अगले 3-5 साल में विदेशी कारोबार बढ़ाने की योजना है। साथ ही मेंबरशिप के लिए नए आवेदन बढ़ने की उम्मीद है। राजेन शाह ने महिंद्रा हॉलिडेज पर 2 साल के लिए 850 रुपये का लक्ष्य दिया है।


राजेन शाह के मुताबिक एटलस साइकिल में भी निवेश किया जा सकता है। राजेन शाह का कहना है कि एटलस साइकिल की हर साल 25 लाख साइकिल की बिक्री है। इसके अलावा कंपनी ने नुकसान कम करने के लिए घाटे वाली मालनपुर यूनिट बंद कर दी है। वहीं पिछले 6 महीनों में शेयर में तेज गिरावट आई है, ऐसे में अब निचले स्तर पर खरीद का मौका है। राजेन शाह ने एटलस साइकिल पर 3-4 साल के लिए 800 रुपये का लक्ष्य दिया है।    



सेठी फिनमार्ट के विकास सेठी के पसंदीदा शेयर


विकास सेठी को जैन इरीगेशन काफी पसंद है। विकास सेठी के मुताबिक जैन इरीगेशन को अच्छे मॉनसून और रूरल इकोनॉमी पर सरकार के फोकस से फायदा होगा। प्रोमोटर्स ने 800 करोड़ रुपये की पूंजी डाली है और हाल ही में कंपनी को बड़े ऑर्डर भी मिले हैं। साथ ही कर्ज घटने से कंपनी के ब्याज खर्च में कमी की उम्मीद है। विकास सेठी ने जैन इरीगेशन पर 1 साल के लिए 150 रुपये का लक्ष्य दिया है।


विकास सेठी ने इंडियन ह्यूम पाइप में निवेश करने की सलाह दी है। विकास सेठी का कहना है कि कंपनी के फंडामेंटल्स मजबूत है और इसको अच्छे मॉनसून से फायदा होगा। साथ ही कंपनी को इंफ्रास्ट्रक्चर और रेलवे पर सरकार के फोकस से फायदा होगा। कंपनी के विदेशी कारोबार में अच्छी बढ़त दिख रही है और कंपनी पर कोई कर्ज नहीं है। कंपनी के मार्च तिमाही के नतीजे बेहद अच्छे रहे हैं और इसके वैल्युएशन सस्ते हैं। विकास सेठी ने इंडियन ह्यूम पाइप पर 1 साल के लिए 650 रुपये का लक्ष्य दिया है।


विकास सेठी के मुताबिक फिनोलेक्स इंडस्ट्रीज में भी निवेश किया जा सकता है। विकास सेठी का कहना है कि फिनोलेक्स इंडस्ट्रीज पीवीसी पाइप बनाने वाली दिग्गज कंपनी है और इसका मार्केट शेयर 19 फीसदी के आसपास है। सरकार के इरिगेशन और कृषि पर फोकस से कंपनी को फायदा होगा। कंपनी के मार्च तिमाही के नतीजे अच्छे रहे हैं और बैलेंसशीट भी मजबूत है। दूसरी पीवीसी कंपनियों के मुकाबले फिनोलेक्स इंडस्ट्रीज का वैल्युएशन आकर्षक नजर आ रहा है। विकास सेठी ने फिनोलेक्स इंडस्ट्रीज पर 1 साल के लिए 850 रुपये का लक्ष्य दिया है।



एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वी के शर्मा के पसंदीदा शेयर


वी के शर्मा को रैलिस इंडिया काफी पसंद है। वी के शर्मा के मुताबिक रैलिस इंडिया को कृषि क्षेत्र के विकास से फायदा मिलेगा। कंपनी का डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क काफी अच्छा है और बैलेंसशीट भी मजबूत है। कंपनी को अच्छे मॉनसून और रूरल इकोनॉमी पर सरकार के फोकस से फायदा होगा। किसानों की आय दोगुनी करने पर सरकार का फोकस है, ऐसे में रैलिस इंडिया को इसका फायदा मिलने की उम्मीद है। वी के शर्मा ने रैलिस इंडिया पर 2-3 महीने के लिए 280 रुपये का लक्ष्य दिया है।


वी के शर्मा ने कोरोमंडल इंटरनेशनल में निवेश करने की सलाह दी है। वी के शर्मा का कहना है कि कोरोमंडल इंटरनेशनल फर्टिलाइजर और एग्रोकेमिकल सेगमेंट में कारोबार करती है। कंपनी पिछले 22 सालों से लगातार शेयरधारकों को डिविडेंड दे रही है। कंपनी को नॉन-सब्सिडी कारोबार के विस्तार से फायदा होगा। वी के शर्मा ने कोरोमंडल इंटरनेशनल पर 2-3 महीने के लिए 475 रुपये का लक्ष्य दिया है।


वी के शर्मा का कहना है कि महिंद्रा एंड महिंद्रा पर भी दांव लगाया जा सकता है। वी के शर्मा के मुताबिक कंपनी को ऑटो सेगमेंट से 70 फीसदी, जबकि ट्रैक्टर सेगमेंट से 30 फीसदी आय हासिल होती है। महिंद्रा एंड महिंद्रा का ट्रैक्टर सेगमेंट में 40 फीसदी और यूटिलिटी व्हीकल में 30 फीसदी मार्केट शेयर है। मई में महिंद्रा एंड महिंद्रा की ट्रैक्टर बिक्री 16 फीसदी बढ़ी और सब्सिडियरी का प्रदर्शन बेहतर हुआ है। वी के शर्मा ने महिंद्रा एंड महिंद्रा पर 2-3 महीने के लिए 1550 रुपये का लक्ष्य दिया है।