Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

मुनाफावसूली के दबाव में बाजार, यहां होगी कमाई जोरदार

प्रकाशित Mon, 12, 2017 पर 16:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

घरेलू बाजारों की इस हफ्ते की शुरुआत कमजोरी के साथ हुई है। कमजोर ग्लोबल संकेतों से बाजार गिरावट के साथ खुला। बिकवाली के दबाव में एक समय निफ्टी 9600 के नीचे भी फिसल गया था। कमजोरी के माहौल में आज निफ्टी ने 9598.5 तक गोता लगाया, जबकि सेंसेक्स 31044.28 तक लुढ़क गया। अंत में निफ्टी 9620 के नीचे बंद हुआ है, जबकि सेंसेक्स 31100 के करीब बंद हुआ है। सेंसेक्स और निफ्टी में 0.5 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।


किरणजाधव डॉटकॉम के किरण जाधव के मुताबिक अल्ट्राटेक सीमेंट ही सबसे ज्यादा कमजोर नजर आ रहा है। अल्ट्राटेक सीमेंट में और बिकवाली का दबाव देखा जा सकता है। अल्ट्राटेक सीमेंट में सपोर्ट के तौर पर 3950 रुपये का स्तर अहम रहेगा। अल्ट्राटेक सीमेंट में शॉर्ट किया जा सकता है। इसमें 4070 रुपये का स्टॉपलॉस रखना होगा और लक्ष्य 3950 रुपये का होगा। बैंक ऑफ इंडिया काफी कमजोर नजर आ रहा है, इसमें शॉर्ट ही करनी चाहिए। इसमें 33 फीसदी ओपन इंटरेस्ट एडिशन बढ़ता नजर आ रहा है। बैंक ऑफ इंडिया में 140.50 रुपये का स्टॉपलॉस लगाकर बिकवाली करने की सलाह होगी। अगले 1-2 ट्रेडिंग के अंदर 130 रुपये के स्तर आने की उम्मीद कर सकते हैं।


अदानी पावर में खरीदारी करनी चाहिए और 26.80 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए। इसमें 30 रुपये के लक्ष्य अगले 3-4 ट्रेडिंग सेशन में देखने को मिल सकते हैं। पीरामल एंटरप्राइजेस में लॉन्ग पोजिशन बनाए रखनी चाहिए और 2940 रुपये का स्टॉपलॉस रखना होगा। इसमें 3100-3120 रुपये के स्तर अगले 2-3 ट्रेडिंग सेशन में मुमकिन हो सकते हैं। रेप्को होम्स में और अच्छी तेजी देखने को मिल सकती है, इसमें अगले 3-4 ट्रेडिंग सेशन के लिहाज से खरीदारी करनी चाहिए। रेप्को होम्स में 827 रुपये का स्टॉपलॉस और 885-890 रुपये का लक्ष्य रखना होगा। कैन फिन में भी ऐसा ही रुझान देखने को मिल रहा है, इसमें यहां से भी तेजी आ सकती है। कैन फिन में 2980 रुपये का स्टॉपलॉस रहेगा, इसमें आते दिनों में 3090-3100 रुपये का स्तर देखने को मिल सकता है।


ट्रेडस्विफ्ट ब्रोकिंग के डायरेक्टर संदीप जैन का कहना है कि पीएसयू बैंकों के साथ-साथ प्राइवेट सेक्टर बैंकों पर भी दबाव देखने को मिल रहा है। वैल्युएशन के लिहाज से अब यस बैंक, इंडसइंड बैंक थोड़े महंगे हो गए है, इनमें गिरावट पर खरीदारी करने के मौके ढ़ूंढ़ने चाहिए। वीएसटी टिलर्स की बात करें तो इसमें निवेशित रहने की सलाह होगी और जहां पर भी थोड़ी बहुत गिरावट का मौका मिले तो खरीदारी करनी चाहिए। चुनिंदा फार्मा शेयरों में जरुर खरीदारी करनी चाहिए, अब इनके वैल्यूएशन अब ज्यादा महंगे नहीं लग रहे हैं। फार्मा सेक्टर में डाउनसाइड रिस्क भी कम लगती है। इस सेक्टर में कैडिला हेल्थ, यूनिकेम लैब्स पर पर दांव लगा सकते हैं। वहीं अरबिंदो फार्मा में खरीदारी के मौके ढ़ूंढ़ने चाहिए, इप्का लैब्स पर भी ध्यान देना चाहिए।   


रिस्क कैपिटल एडवाइजर्स के डी डी शर्मा का कहना है कि रोटेशनल करेक्शन के चलते बाजार में ज्यादा गिरावट देखने को नहीं मिल रही है। बाजार में अभी घबराहट की स्थिति बनते नहीं दिख रही है, क्योंकि घरेलू फंड फ्लो काफी मजबूत हुआ है और सस्टेनेबल है। बाजार में आगे भी रोटेशनल करेक्शन आते रहेंगे, जिस दिन फाइनेंस, ऑटो और बैंकिंग जैसे बड़े सेक्टर में गिरावट आएगी, उस दिन इंडेक्स में भी गिरावट दिखाई देगी, लेकिन इस गिरावट के बाद बाजार दोबारा मजबूत होगा। डी डी शर्मा के मुताबिक सिरामिक्स टाइल्स, सेनिटरीवेयर और पेंट्स सेक्टर पर आउटलुक पॉजिटीव है। अफोर्डेबल हाउसिंग पर बढ़ते फोकस का और कच्चे तेल में नरमी का फायदा इनको मिल सकता है। ये सेक्टर आने वाले 2-3 साल में अच्छी वॉल्यूम ग्रोथ दिखाने की क्षमता रखते हैं।