Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » राजनीति

मध्यप्रदेश में किसानों पर सियासत तेज

प्रकाशित Tue, 13, 2017 पर 16:27  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मध्यप्रदेश के मंदसौर में किसानों पर सियासत तेज हो गई है। मंदसौर में पुलिस फायरिंग में मारे गए किसानों के परिजनों से मिलने जा रहे लोकसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक ज्योतिरादित्य सिंधिया को पुलिस ने रतलाम जिले में रोक लिया। सिंधिया हर हाल में मंदसौर जाने की बात पर अड़े हुए थे जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया।  वहीं इससे पहले हार्दिक पटेल भी मंदसौर जा रहे थे तो पुलिस ने उन्हें भी रोक दिया।


उधर मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंदसौर दौरे से पहले 3 किसानों ने खुदकुशी कर ली है। खुदकुशी करने वाले किसानों में सीहोर जिले का रहने वाला दुलचंद, होशंगाबाद का माखन लाल और एक किसान विदिशा का रहने वाला था। दुलचंद पर पर 6 लाख रुपये का कर्ज था। बैंक का कर्ज न चुका पाने के कारण उसने पेस्टीसाइड पीकर अपनी जान दे दी। वहीं 68 वर्षीय माखन लाल ने पेड़ पर फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। जबकि विदिशा में एक किसान ने जहर खाकर अपनी जान दे दी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 14 जून को मंदसौर का दौरा करेंगे।


इस बीच उपवास तोड़ने के बाद मुख्यमंत्री ने एलान किया है कि समर्थन मूल्य से नीचे कृषि उत्पाद खरीदना अब अपराध होगा। उन्होंने किसानों और उपभोक्ताओं के बीच बिचौलियों को कम से कम करने के उद्देश्य से प्रदेश की सभी नगर पालिकाओं और नगर निगम में किसान बाजार स्थापित करने की घोषणा की। सीएम चौहान ने प्रदेश ने किसानों से दूध खरीदने के लिए अमूल खरीद प्रणाली लागू करने की बात भी कही, उन्होंने कहा कि प्रदेश में कृषि भूमि के बेहतर उपयोग करने के लिये स्टेट लैंड यूज एडवाइजरी सर्विस बनाई जाएगी।