आम बैंक से कितना अलग पेमेंट बैंक, क्या हैं खूबियां -
Moneycontrol » समाचार » निवेश

आम बैंक से कितना अलग पेमेंट बैंक, क्या हैं खूबियां

प्रकाशित Thu, 15, 2017 पर 19:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मॉडर्न बैंकिंग का रूप यानि पेमेंट बैंक। इस नई तरह के बैंकिंग में आपके आम बैंकों के मुकाबले क्या खास है? क्या इस बैंको में होना चाहिए आपका भी खाता। योर मनी में हम आपको पेमेंट बैंकों से जुडी तमाम बारीकियों से रूबरू करवाएंगें। इस पर चर्चा करने के लिए हमारे साथ है फाइनेंशियल प्लानर अर्णव पंड्या।


अर्णव पंड्या का कहना है कि पेमेंट बैंक, बैंकिंग का एक नया नजरिया है, जिसमें 1 लाख रुपये तक डिपॉजिट ले सकते हैं। इसमें डिपॉजिट पर ब्याज दे सकते हैं। पेमेंट बैंक में सेविंग और करेंट दोनों अकाउंट की सुविधा मिलती है। हालांकि पेमेंट बैंक में क्रेडिट कार्ड जारी नहीं किया जा सकता। लेकिन इसमें डेबिट और एटीएम कार्ड जारी कर सकते हैं। पेमेंट बैंक 75 फीसदी पैसा सरकारी सिक्योरिटीज में रखना होगा और बाकी 25 फीसदी बैंक में डिमांड डिपॉजिट के तौर पर रखना होता है।


पेमेंट बैंक नए ग्राहकों को लुभाने के लिए ब्याज की दरें ज्यादा दे रही है। हालांकि बाद में पेमेंट बैंक दरों में कटौती कर सकते हैं। क्योंकि ज्यादा ब्याज देकर मुनाफा कमाना मुश्किल होता है। 75 फीसदी पैसा सरकारी सिक्योरिटीज में रखना होगा और 25 फीसदी बैंक में डिमांड डिपॉजिट के तौर पर रखना होगा। सरकारी सिक्योरिटीज, डिमांड डिपॉजिट पर दरें कम है।


एम पेमेंट बैंक की खासियत यह है कि इससे करेंट और सेविंग अकाउंट की सुविधा है और अकाउंट खोलने पर मास्‍टर कार्ड का एटीएम जारी होगा। जिसपर डिपॉजिट पर 4फीसदी ब्‍याज के साथ कैशबैक मिलेगा। हालांकि इसमें ऑनलाइन ट्रांजैक्‍शन पर कोई शुल्‍क नहीं लगेगा। इसमें मिनिमम बैलेंस रखने की भी कोई पाबंदी नहीं है। इनवाइट मिलने पर अकाउंट खोल सकते हैं। इनवाइट के लिए www.paytmpaymentsbank.com पर जाएं। पेटीएम वॉलेट ग्राहक पेमेंट बैंक से जुड़ेंगे हालांकि पेटीएम वॉलेट ग्राहक को भी केवायसी कराना होगा। फ्री लेनदेन की सीमा खत्म होने के बाद 20/ट्रांजैक्शन चार्ज लगेगा। वहीं मेट्रो में बिना चार्ज के एटीएम से 3 बार पैसे निकाल सकते हैं।