Moneycontrol » समाचार » बीमा

बीमा पर हर्ष रूंगटा की सलाह

प्रकाशित Sat, 04, 2010 पर 16:54  |  स्रोत : Hindi.in.com

4 दिसंबर 2010

सीएनबीसी आवाज़


अपना पैसा डॉट कॉम के सीईओ हर्ष रूंगटा का कहना है कि ज्यादातर यूलिप प्लान में अधिकांश चार्ज शुरूआती 3 साल में ले लिए जाते हैं। अगर आप ने जो पॉलिसी ली हुई है उसका लॉक-इन पीरियड खत्म हो चुका है तो पॉलिसी में बने रहने की सलाह दी जाती है।


 


भारती एक्सा ब्राइट स्टार्स एक मनी बैक पॉलिसी है जिसे निवेश के लिए अच्छा माध्यम नहीं माना जा सकता है। इसमें 4 फीसदी से लेकर अधिकतम 6 फीसदी तक के ही रिटर्न मिलते हैं।

 



होमलोन कवर के लिए इंश्योरेंस


 


होमलोन के कवर के लिए भी बैंक द्वारा इंश्योरेंस कराने के लिए कहा जाता है। होमलोन कवर के लिए होमलोन प्रोटेक्शन पॉलिसी ली जा सकती है। हर्ष रूंगटा की सलाह है कि होमलोन के बराबर राशि का टर्म प्लान लिया जा सकता है। होमलोन प्रोटेक्शन प्लान की तुलना में टर्म प्लान सस्ता पड़ता है।


इसके अलावा ऐसे कोई नियम भी नहीं है कि जिस बैंक से आपने लोन लिया है उसी बैंक के जरिए आपको पॉलिसी लेनी जरूरी है। ये ग्राहक की मर्जी पर निर्भर करता है कि वो कहां से होमलोन के कवर के लिए पॉलिसी लेना चाहता है।



पॉलिसी डॉक्यूमेंट में गलत जानकारी


 


हर्ष रूंगटा का कहना है कि पॉलिसी डॉक्यूमेंट गलत होने पर उसे फौरन सुधारना चाहिए वर्ना क्लेम करते समय भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। अगर किसी कंपनी ने आपके सही जानकारी देने के बावजूद पॉलिसी डॉक्यूमेंट में गलत जानकारी दी है तो पहले कंपनी को इसकी जानकारी दें और कागजात सही करने को कहें।


कंपनी द्वारा गलती ना सुधारने पर आईआरडीए के ग्रेवियन सेल में मामले की शिकायत की जा सकती है। अगर इसेक बावजूद भी समस्या का निपटारा नहीं होता है तो बैंकिंग एम्बुड्समैन में जाकर कंपनी के खिलाफ शिकायत की जा सकती है।


वीडियो देखें