Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

हड़ताल से परेशान देश के कपड़ा व्यापारी

प्रकाशित Wed, 12, 2017 पर 19:14  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

गुजरात में टेक्सटाइल इंडस्ट्री की हड़ताल के कारण देश के दूसरे हिस्सों में कपड़ा कारोबारियों को करोड़ों का नुकसान हो रहा है। 15 दिनों से चल रही इस हड़ताल के कारण रिटेलर से लेकर ग्राहक तक परेशान हैं। लेकिन सबसे ज्यादा मार थोक व्यापारियों पर पड़ी है।


ये हैं नागपुर के कपड़ा व्यापारी भारत भूषण। स्कूल यूनिफॉर्म, सूट और दुपट्टे का थोक कारोबार करते हैं। इन्होंने सूरत में एक लाख मीटर कपड़े का ऑर्डर दे रखा है लेकिन वहां हड़ताल के कारण माल आ नहीं रहा। नतीजा ये कि इन्हें रोज 3 लाख के आसपास नुकसान हो रहा है।


दरअसल सूरत लेडीज गार्मेंट के लिए कपड़ों की सप्लाई का बड़ा सेंटर है। लिहाजा हड़ताल की वजह से देश के ज्यादातर हिस्सों में कपड़ा व्यापारी नुकसान उठा रहे हैं। कपड़ा व्यापारियों का दावा है कि उन्हें नागपुर में रोज 30 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है। रायपुर में 60 करोड़ और इंदौर में 80 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है।


गुजरात के कपड़ा व्यापारी मांग कर रहे हैं कि सरकार टेक्सटाइल इंडस्ट्री को दो साल जीएसटी के दायरे से बाहर रखे। फिलहाल सरकार इस मांग को मानने के मूड में नहीं दिख रही लेकिन इतना तो तय है कि इस बंद को खत्म करने के लिए कोई न कोई रास्ता निकालना होगा। क्योंकि गुजरात की हड़ताल का असर देश भर के कपड़ा व्यापारियों पर पड़ रहा है।