Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जीएसटी: पुराने गहनों पर नया फरमान

प्रकाशित Fri, 14, 2017 पर 09:08  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सरकार ने पुराने गहनों की खरीद-बिक्री पर जीएसटी को लेकर नई सफाई जारी की है। वित्त मंत्रालय ने साफ किया है कि पुराने गहने बेचने पर जीएसटी नहीं लगेगा। इसके साथ ही शैक्षणिक संस्थानों की सेवाओं में भी जीएसटी को लेकर सरकार ने सफाई जारी की है।


वित्त मंत्रालय के मुताबिक पुराने गहने बेचने पर जीएसटी नहीं लगेगा, अगर कोई ज्वेलर जीएसटी में रजिस्टर्ड नहीं है तो उसे पुरानी ज्वेलरी पर जीएसटी देना होगा। जो ज्वेलर जीएसटी में रजिस्टर्ड नहीं है तो उसे पुरानी ज्वेलरी बेचने पर 3 फीसदी जीएसटी देना होगा।


वहीं, पुरानी ज्वेलरी के बदले नई ज्वेलरी लेने पर मेकिंग चार्ज पर जीएसटी देना होगा। मेकिंग चार्ज पर 18 फीसदी जीएसटी देना होगा। वित्त मंत्रालय का कहना है कि पुराने गहने के बदले नए गहने लेते हैं तो इसे सर्विस माना जाएगा, ऐसे में नए गहने के मेकिंग चार्ज पर 18 फीसदी जीएसटी लगेगा।


सरकार ने छात्रों को जीएसटी से राहत दी है। छात्रों को मिलने वाली सेवाओं पर कोई जीएसटी नहीं लगेगा। शैक्षणिक संस्थानों की सेवाओं पर जीएसटी नहीं लगेगा। वित्त मंत्रालय ने सफाई में कहा है कि शिक्षा से जुड़ी सभी सेवाएं जीएसटी से बाहर हैं। बोर्डिंग और हॉस्टल फीस पर भी कोई जीएसटी नहीं लगेगा।