Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

इंडिया रियल एस्टेटः पुणे में तेजी से बढ़ता नाम वीटीपी

प्रकाशित Sat, 15, 2017 पर 17:40  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

महाराष्ट्र में रियल एस्टेट के लिहाज से मुंबई के बाद दूसरे सबसे बड़े शहर के तौर पर अगर कोई नाम आता है, तो वो है पुणे। आज पुणे एक ऐसा शहर बन चुका है जहां पर मैन्युफैक्चरिंग, ऑटोमोबाइल, आईटी और एजुकेशन सेक्टर बड़े पैमाने पर मौजूद है। यही कारण है कि रियल एस्टेट सेक्टर के लिए पुणे एक अहम जगह रखता है। इस वक्त पुणे का तेजी से विस्तार हो रहा है और कई नए इलाके तेजी से उभर रहे हैं। ऐसा ही एक इलाका है शहर के उत्तर पूर्व में मौजूद वाघोली।


वाघोली से नजदीक खराड़ी में ईऑन आईटी एसईजेड में कई बड़ी आईटी कंपनियां मौजूद हैं। इसके अलावा पुणे का एयपोर्ट यहां से औसत दूरी पर मौजूद है तो वहीं रेलवे स्टेशन करीब 15 किलोमीटर पर जो कि पुणे नगर रोड के जरिए सीधी तौर पर कनेक्ट है। इन्हीं सब बातों के चलते अब ये इलाका बिल्डरों को बेहद पसंद आ रहा है। और इस वजह से यहां पर कई छोटे बड़े रेजिडेंशियल और कमर्शियल प्रोजेक्ट्स काफी तेजी से बन रहे हैं।


पुणे के रियल एस्टेट में तेजी से बढ़ता नाम है वीटीपी, 30 साल पहले वीटीपी की शुरुआत विलास कुमार पालरेसा ने की जो मौजूदा वक्त में कंपनी के चेयरमैन हैं। सीमेंट ट्रेडर्स के तौर पर शुरू हुई वीटीपी ग्रुप ने बेहद कम वक्त में खुद को दिग्गज सीमेंट सप्लायर्स के तौर पर साबित कर दिया। वक्त के साथ कंपनी का दायरा बढ़ा और वीटीपी ने रॉ मटीरियल सप्लाई, इंफ्रास्ट्रक्चर कॉन्ट्रैक्ट और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में भी पांव जमाए। आज इन सभी क्षेत्रों में वीटीपी एक जाना पहचाना नाम बन चुकी है।


रियल एस्टेट में वीटीपी ग्रुप पिछले 7 सालों से सक्रिय है। आज कंपनी करीब दर्जनभर प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। इन प्रोजेक्ट में कुछ तो तैयार हो चुके हैं और कुछ अंडरकंस्ट्रक्शन हैं। पुणे बेस्ड वीटीपी ग्रुप अपने हर बिजनेस में ग्राहकों की संतुष्टि को सबसे ऊपर रखती है।


वीटीपी रियल्टी का प्रोजेक्ट पूर्वांचल एक मिड सेगमेंट प्रोजेक्ट है, जो पुणे के वाघोली में केसनंद रोड पर तैयार किया जाना है। 11 एकड़ के वीटीपी पूर्वांचल में कुल 8 टॉवर्स होंगे। इन टॉवर्स में 1 बीएचके से लेकर 3 बीएचके की कॉन्फिग्रेशन में घरों को प्लान किया गया है। वीटीपी पूर्वांचल में सभी तरह के करीब 1100 घर बनाए जाने हैं।


काफी अलग तरह के लैंड एरिया को काफी अच्छे लेआउट में फिट किया गया है। वीटीपी पूर्वांचल को तीन फेज में पूरा किया जाना है जिसके पहले फेज का काम शुरू हुआ है। वीटीपी पूर्वांचल में एक ओर रिहायशी टॉवर्स हैं तो दूसरी ओर एमिनिटीज और रीक्रिएशन एरिया रखा गया है। महज तीन महीने पहले यानि मई 2017 में शुरू हुआ वीटीपी पूर्वांचल फाउंडेशन लेवल पर है जो अगले तीन साल में यानि 2020 तक पूरा कर लिया जाना है।