Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

जीएसटी, रेरा का मांग पर दिखेगा असर: गृह फाइनेंस

प्रकाशित Mon, 17, 2017 पर 14:06  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

गृह फाइनेंस हाउसिंग फाइनेंस के कारोबार में है। साल दर साल आधार पर कंपनी की लोन ग्रोथ 19 फीसदी रही है। नोटबंदी का कंपनी के कारोबार पर कोई असर नहीं दिखा है। कंपनी का वित्त वर्ष 2017 का प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक रहा है। सस्ते घरों की मांग बढ़ी है जिससे कंपनी के फायदा होगा।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में गृह फाइनेंस की आय 32.3 फीसदी बढ़कर 161.7 करोड़ रुपये हो गई है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में गृह फाइनेंस की आय 122.2 करोड़ रुपये रही थी।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में गृह फाइनेंस का मुनाफा 20 फीसदी बढ़कर 72.2 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में गृह फाइनेंस का मुनाफा 60.2 करोड़ रुपये रहा था।


जून तिमाही में गृह फाइनेंस की एसेट क्वालिटी में गिरावट देखने को मिली है जिसपर बात करते हुए गृह फाइनेंस के एमडी सुधीन चोकसी ने कहा कि पहली और दूसरी तिमाही में कंपनी का जीएनपीए आमतौर पर ज्यादा रहता है। बाद में तीसरी और चौथी तिमाही में इसमें कमी आती है। एसेट क्वालिटी को लेकर कोई दिक्कत नहीं है।


सुधीन चोकसी ने आगे कहा कि नोटबंदी का कंपनी के कारोबार पर कोई असर नहीं दिखा है। उन्होंने कहा कि सस्ते घरों की वजह से लोन की मांग बढ़ी है। कंपनी के कारोबार पर आगे जीएसटी का असर देखने को मिल सकता है। सुधीन चोकसी के मुताबिक रेरा और जीएसटी से मांग पर अगले 3-4 महीने कुछ असर देखने को मिल सकता है।