उज्जीवन को ₹75 करोड़ का घाटा

प्रकाशित Thu, 03, 2017 पर 17:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में उज्जीवन को 75 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में उज्जीवन को 19.3 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में उज्जीवन की आय 323.4 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में उज्जीवन की आय 314.5 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही आधार पर पहली तिमाही में उज्जीवन का ग्रास एनपीए 0.28 फीसदी से बढ़कर 6.16 फीसदी रहा है। तिमाही दर तिमाही आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में उज्जीवन का नेट एनपीए 0.03 फीसदी से बढ़कर 2.3 फीसदी रहा है।