Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

बाजार में दिखी तेजी, आगे कैसी होगी चाल

प्रकाशित Fri, 04, 2017 पर 16:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आज घरेलू बाजारों की शुरुआत सुस्ती के साथ हुई थी, और आगे कमजोरी भी देखने को मिली। हालांकि कारोबारी सत्र के आखिरी घंटे के दौरान बाजार ने अच्छी रिकवरी दिखाई। दिन के निचले स्तरों से निफ्टी में करीब 80 अंकों का सुधार देखने को मिला है, जबकि सेंसेक्स में करीब 220 अंकों की रिकवरी देखने को मिली है। आज के कारोबार में निफ्टी 9988.35 तक टूट गया था, तो सेंसेक्स ने 32108 तक गोता लगाया था। अंत में निफ्टी 10050 के ऊपर बंद होने में कामयाब हुआ है, जबकि सेंसेक्स 32300 के ऊपर बंद हुआ है।


आनंद राठी सिक्योरिटीज के सिद्धार्थ सेडानी का कहना है कि एचपीसीएल के नतीजे मिले-जुले रहे है। कंपनी ने जीआरएम फ्रंट पर काफी अच्छा परफॉर्म किया है लेकिन नेट इनकम कम आये है। हालांकि ओएनजीसी के मुकाबले बीपीसीएल में खरीदारी की राय अवश्य होगी। क्योंकि आनेवाले समय में  बीपीसीएल अच्छा प्रदर्शन कर सकती है। लिहाजा इसमें खरीदारी की जा सकती है।


फार्मा सेक्टर में मौजूदा समय में गिरावट होने की पूरी संभावनाएं बनी हुई है। अगर फार्मा सेक्टर में निवेश करना हो तो चुनिंदा स्टॉक्स पर ही खरीदारी करें। जैसे निवेशक कैडिला हेल्थकेयर में खरीदारी की जा सकती है। आंध्रा बैंक में मौजूदा निवेशक ऊछाल पर मुनापावसूली कर बाहर निकलें क्योंकि पीएसयू बैंकिंग सेक्टर में एनपीए को लेकर दबाव बना हुआ है।


मार्केट एक्सपर्ट आनंद टंडन का कहना है कि एंट्री डपिंग ड्यूटी आती है तो इसका फायदा बाजार को मिल सकता है। एफएमसीजी सेक्टर में जीएसटी के बाद हल्का सा दबाव देखने को मिला है लेकिन ब्रिटानिया में मौजूदा स्तर से तेजी बनी रह सकती है। हालांकि इसमें वैल्यूएशन को लेकर असमजंस की स्थिति बनी रहेगी।टाटा स्टील का अगर टाइटन के साथ मर्जर होता है तोकंपनी के लिए काफी फायदा होगा। लेकिन एंट्री डपिंग ड्यूटी कब तक बरकरार रहेगी यह कहना मुश्किल है।


इक्विटीरश के कुणाल सरावगी का कहना है कि लॉजिस्टिक्स सेक्टर काफी समय से कमजोरी के साथ कारोबार करते नजर आये है। स्नोमैन लॉजिस्टिक्स की बात करें तो चार्ट स्ट्रक्चर में किसी तरह का कोई ब्रेकआउट नहीं देखने को मिल रहा है जिसके चलते इसमें खरीदारी की राय नहीं होगी। 


त्रिवेणी इंजीनियरिंग में जिस तरह का ब्रेकआउट देखने को मिल रहा है उससे इसमें और भी तेजी की उम्मीद है। स्टॉक्स ने 96 रुपये के स्तर को पार किया है। लिहाजा इसमें 94 रुपये के स्टॉपलॉस के साथ 105-106 रुपये के लक्ष्य के लिए खरीदारी करें।