Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » स्टॉक व्यू खबरें

गिरावट की क्या रही वजह, कहां करें खरीदारी

प्रकाशित Tue, 08, 2017 पर 15:57  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

घरेलू बाजारों में आज मुनाफावसूली का दबाव नजर आया। हालांकि बाजार की शुरुआत हल्की बढ़त के साथ हुई थी। लेकिन ऊपरी स्तरों पर बाजार में मुनाफावसूली हावी हो गई। दूसरी ओर शेल कंपनियों पर मार्केट रेगुलेटर सेबी के ऑर्डर से भी बाजार का मूड बिगड़ा। आज के कारोबार में निफ्टी ने 9947 तक गोता लगाया, तो सेंसेक्स 31915.2 तक टूट गया था। अंत में निफ्टी 9975 के आसपास बंद हुआ है, जबकि सेंसेक्स 32000 के ऊपर बंद होने में कामयाब रहा।


कोटक इंश्योरेंस रोहित अग्रवाल का कहना है कि मौजूदा समय में बाजार में और उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है। सेबी ने जिन शेल कंपनियों की लिस्ट जारी की है उससे आज के सत्र में करेक्शन देखने को मिल रहा है। हालांकि बाजार में थोड़े उतार-चढ़ाव के बाद बाजार में फिर से स्थिरता दिखाई दे सकती है।


यूएस एफडीए के बाद फार्मा सेक्टर में काफी दबाव देखने को मिल रहा है जो आनेवाले कुछ समय तक और रह सकती है। हालांकि मौजूदा समय में इनके वैल्यूएशन सस्ते दिखाई दे रहे है। लेकिन फिर भी इनमें खरीदारी की राय नहीं होगी। 


इंडिया निवेश सिक्योरिटीज के दलजीत सिंह कोहली का कहना है कि जीएसटी के कारण टाटा मोटर्स में हल्का सा दबाव देखने को मिला है। लिहाजा इमसें नई खरीदारी की राय नहीं होगी लेकिन मौजूदा निवेशक बने रहें क्योंकि 6 महीने में इसकी स्थिरता नजर आने की पूरी संभावनाएं है।


रजत बोस डॉटकॉम के रजत बोस का कहना है कि मुथूट फाइनेंस में 480 रुपये के ऊपरी स्तर को बरकरार रखता है तो इसमें और भी तेजी देखने को मिल सकती है। लिहाजा इसमें मौजूदा स्तर से खरीदारी करने की सलाह होगी। आयशर मोटर्स में काफी अच्छी तेजी देखने को मिली है। मौजूदा समय में इसमें काफी तेजी देखने को मिली है जिसके चलते मौजूदा स्तर से आयशर मोटर्स में खरीदारी की सलाह नहीं होगी। हालांकि मौजूदा निवेशक इसमें बने रह सकते है।


बीते 3 दिनों में इसमें तेजी देखने को मिली थी। लेकिन आज के सत्र में आईओसी में ऊपरी स्तर से गिरावट देखने को मिल रही है जिसके कारण इसमें नई खरीदारी की राय नहीं होगी। हालांकि मौजूदा निवेशक 408 रुपये के स्टॉपलॉस रख इसमें बने रहें।