Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

डायरेक्ट पोर्ट डिलिवरी का विरोध

प्रकाशित Wed, 09, 2017 पर 16:36  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

महाराष्ट्र में पोर्ट पर काम करने वाले कंटेनर ऑपरेटर जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट यानी जेएनपीटी की डायरेक्ट पोर्ट डिलिवरी नीति का विरोध कर रहे हैं। इस सिलसिले में ऑपरेटरों ने एक बड़ी बैठक कर अपनी नाराजगी जताई है। इनका कहना है कि डायरेक्ट पोर्ट डिलिवरी यानी डीपीडी के कारण बड़े ऑपरेटरों को फायदा होगा। डीपीडी के तहत अब कंटेनरों को पिकअप के लिए पोर्ट से कहीं दूसरी जगह ले जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। जिसका सामान है वो सीधे पोर्ट से अपना सामान उठवा सकता है।


साथ ही ऑपरेटर नई टेंडर नीति का भी विरोध कर रहे हैं। उन्हें शिकायत है कि जो शर्तें हैं उनमें सिर्फ बड़े ऑपरेटरों को ही काम मिलने वाला है। ऑपरेटर डायरेक्ट पोर्ट डिलिवरी के खिलाफ हाईकोर्ट भी गए लेकिन उन्हें वहां राहत नहीं मिली। अब ऑपरेटर सुप्रीम कोर्ट का रुख कर सकते हैं।