Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php

आवाज़ अनुमान: कैसे रहेंगे दिग्गजों के नतीजे

प्रकाशित Fri, 11, 2017 पर 09:34  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आज सन फार्मा, सिप्ला, बैक ऑफ बड़ौदा और एसबीआई जैसे दिग्गजों को नतीजे आएंगे जिस पर बाजार की नजरें रहेंगी।


एसबीआई


सीएनबीसी-आवाज़ के अनुमान के मुताबिक वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में एसबीआई का मुनाफा करीब 5 गुना बढ़कर 2485.3 करोड़ रुपये पर आ सकता है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में एसबीआई का मुनाफा 502.9 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में एसबीआई की ब्याज आय 3.7 फीसदी बढ़कर 18767.2 करोड़ रुपये पर आ सकती है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में एसबीआई की ब्याज आय 18096.3 करोड़ रुपये रही थी।


सन फार्मा


सीएनबीसी-आवाज़ के अनुमान के मुताबिक वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में सन फार्मा का मुनाफा 44 फीसदी घटकर 1144 करोड़ रुपये पर आ सकता है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में सन फार्मा का मुनाफा 2034 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में सन फार्मा की आय 14 फीसदी घटकर 7096 करोड़ रुपये पर आ सकती है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में सन फार्मा की आय 8243 करोड़ रुपये रही थी।


सिप्ला


सीएनबीसी-आवाज़ के अनुमान के मुताबिक वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में सिप्ला का मुनाफा 11 फीसदी घटकर 324 करोड़ रुपये पर आ सकता है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में सिप्ला का मुनाफा 364.3 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में सिप्ला की आय 6.1 फीसदी बढ़कर 3813.2 करोड़ रुपये पर आ सकती है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में सिप्ला की आय 3594 करोड़ रुपये रही थी।


बैंक ऑफ बड़ौदा


सीएनबीसी-आवाज़ के अनुमान के मुताबिक वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 8.4 फीसदी बढ़कर 459.3 करोड़ रुपये पर आ सकता है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा का मुनाफा 423.6 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा की ब्याज आय 4.4 फीसदी बढ़कर 3519.6 करोड़ रुपये पर आ सकती है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में बैंक ऑफ बड़ौदा की ब्याज आय 3371.1 करोड़ रुपये रही थी।