Moneycontrol » समाचार » क्रेडिट कार्ड

योर मनीः इंस्टेंट क्रेडिट कार्ड का जमाना, नफ़ा या नुकसान!

प्रकाशित Sat, 12, 2017 पर 15:20  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जरूरत पड़ने पर क्रेडिट कार्ड बड़े काम आते हैं। कंपनियां क्रेडिट कार्ड पर एक से बढ़कर एक फीचर लॉन्च कर रही हैं। आईसीआईसीआई बैंक ने तो आज इंस्टेंट क्रेडिट कार्ड लॉन्च कर दिया है। मतलब ऑनलाइन अप्लाई कीजिए और तुरंत वर्चुअल क्रेडिट कार्ड मिल जाएगा। इससे आप तत्काल ऑनलाइन खरीदारी कर सकते हैं। क्रेडिट कार्ड आपकी जिंदगी आसान करते हैं लेकिन ये मुसीबन भी बन सकते हैं। योर मनी में आज हम क्रेडिट कार्ड पर खास चर्चा करेंगे और हमारा साथ देने के लिए हमारे साथ मौजूद है विशफिन के सीईओ और को-फाउंडर ऋषि मेहरा।


आईसीआईसीआई बैंक ने इंस्टेंट क्रेडिट कार्ड लॉन्च किया। यह इंस्टेंट कार्ड सेविंग्स अकाउंट कस्टमर्स को तुरंत मिलेगा। प्री-क्वालिफाइड कस्टमर्स को ही इंस्टेंट क्रेडिट कार्ड की सुविधा मिलेगी।  क्रेडिट कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन दे सकते हैं। डिटेल भरने के बाद तुरंत वर्चुअल क्रेडिट कार्ड बनेगा। वर्चुअल क्रेडिट कार्ड से तत्काल ऑनलाइन शॉपिंग संभव होगी। आईसीआईसीआई बैंक की ये सुविधा 24x7 मिलेगी। बैंक ने पहले से ही क्रेडिट स्कोर चेक किया है। क्रेडिट स्कोर के आधार पर 4 लाख तक का लिमिट दी जायेगी।


ऋषि मेहरा का कहना है कि मनी टैप जैसे कई ऐप से तत्काल पर्सनल लोन मिल सकता है। आपकी सेलरी के आधार पर लिमिट मिलेगी। ऐप से अप्लाई करने पर खाते में तुरंत पैसा आएगा। ऐप से अप्लाई करने पर कोई कागजी कार्रवाई नहीं है। आधार कार्ड नंबर के जरिए वैरिफिकेशन होता है। ऐप से लोन लेने पर ब्याज के साथ प्रोसेसिंग फीस लगेगी।


क्रेडिट कार्ड वापस करना सही? इस पर ऋषि मेहरा ने कहा कि गलत तरीके से कार्ड वापस करने से दिक्कत हो सकती है। नया क्रेडिट कार्ड या लोन मिलने में मुश्किल आ सकती है। बहुत ज्यादा क्रेडिट कार्ड हों, तभी बंद कराएं।  पुराने क्रेडिट कार्ड के बजाए नया क्रेडिट कार्ड बंद कराएं।